MP Board Exam 2021-22: 10वीं-12वीं परीक्षा पर आई बड़ी अपडेट, छात्रों के लिए जानना जरुरी

MP Board 10वीं , 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की विस्तृत डेटशीट के लिए कृपया वेबसाइट- http://mpbse.nic.in देखें।

mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन ने राज्य में MP Board 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं का शेड्यूल जारी कर दिया है। 10वीं, 12वीं की परीक्षा 12 फरवरी से 20 मार्च तक और व्यावहारिक परीक्षा 31 मार्च, 2022 तक आयोजित की जाएगी।

मध्य प्रदेश के स्कूल विभाग (School education department) ने अपने ट्वीट (Tweet) के माध्यम से जानकारी दी। “माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा परीक्षा वर्ष 2021-22 के लिए 10वीं, 12वीं की थ्योरी और प्रैक्टिकल परीक्षा, प्री-वोकेशनल स्कूल एजुकेशन में डिप्लोमा (DPSE) और शारीरिक शिक्षा प्रशिक्षण पत्र 12 फरवरी, 2022 से आयोजित किया जाएगा।

मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (MPBSE) ने शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए 9वीं से 12वीं के पाठ्यक्रम को कम कर दिया है। छात्रों को इस वर्ष भी देश में चल रहे Corona लॉकडाउन के कारण शैक्षिक गतिविधियों में व्यवधान का सामना करना पड़ा है। जिसके कारण MPBSE ने 9वीं से 12वीं के पाठ्यक्रम को अंग्रेजी, हिंदी, संस्कृत, उर्दू सहित कम करने का निर्णय लिया है। इसके अलावा गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान, मानविकी, वाणिज्य और विज्ञान स्ट्रीम के छात्रों के लिए सिलेबस में कटौती की गई है।

Read More: लंबित परिणामों को लेकर परीक्षार्थियों ने MPPSC से की बड़ी मांग, चेयरमैन को लिखा पत्र

एमपी बोर्ड ने मार्किंग स्कीम में भी बदलाव किया है। संशोधित अंकन योजना के अनुसार, 80 अंक सैद्धांतिक विषयों के लिए और शेष 20 व्यावहारिक और परियोजना कार्यों के लिए आवंटित किए जाएंगे। MP Board 10वीं , 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की विस्तृत डेटशीट के लिए कृपया वेबसाइट- http://mpbse.nic.in देखें।

कटौती हुए पाठ्यक्रम के लिए यहाँ देखें

http://mpbse.nic.in/Reduced_Syllabus_Session_2021_22.pdf

इसके अलावा मध्य प्रदेश सरकार ने पहली बार स्कूली छात्रों को मुफ्त पाठ्यपुस्तकों के वितरण को पारदर्शी और कागज रहित बनाने के लिए एक ऑनलाइन ट्रैकिंग प्रणाली शुरू की है। मध्य प्रदेश की पुस्तकों की ऑनलाइन ट्रैकिंग प्रणाली जियो-टैग तकनीक पर आधारित होगी और वर्तमान शैक्षणिक वर्ष के दौरान तीन करोड़ 55 लाख पुस्तकों को वितरित करने का प्रयास करेगी। राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (NIC) के सहयोग से ऑनलाइन जियो-टैगिंग प्रणाली तैयार की गई है। ऑनलाइन ट्रैकिंग प्रणाली पाठ्य पुस्तक निगम से पुस्तकों को ट्रैक करने का प्रयास करती है जहां वे स्कूल स्तर पर बच्चों को वितरण के लिए मुद्रित की जाती हैं।