MP Board: 12वीं के रिजल्ट के बाद सामने आया मंत्री इंदर सिंह परमार का बड़ा बयान

MP Board द्वारा 6 लाख 56 हज़ार 148 नियमित परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम घोषित किये गए हैं।

mp board इंदर सिंह परमार

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (MP Board of Secondary Education) ने 10वीं के बाद आज गुरुवार को 12वीं का रिजल्ट (MP Board 12th Result) जारी कर दिया है। फर्स्ट डिवीजन से 52.28%, सेकेंड डिवीजन से 40.28% और थर्ड डिविजन से 7.44% छात्र पास हुए हैं। खास बात ये है कि इस बार किसी भी छात्र को फेल नहीं किया गया है, हालांकि इस बार मेरिट लिस्ट भी जारी नहीं गई है। इसी बीच स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री  इंदर सिंह परमार का बड़ा बयान सामने आय़ा है।

यह भी पढ़े.. मप्र उपचुनाव को लेकर कमलनाथ का मास्टर प्लान, इस आधार पर तय होंगे प्रत्याशी

स्कूल शिक्षा मंत्री  इंदर सिंह परमार परीक्षा परिणाम में सफलता पाने वाले सभी विद्यार्थियों एवं उनके अभिभावकों को हार्दिक बधाई दी। उन्होंने सभी विद्यार्थियों को उज्ज्वल भविष्य एवं सफल जीवन के लिए शुभकामनाएँ दी है। परमार ने कहा कि जो परीक्षार्थी अपने परीक्षा परिणाम से असंतुष्ट है, वे सितंबर माह, 2021 में आयोजित होने वाली परीक्षा में संपूर्ण विषयों अथवा किसी विषय विशेष की परीक्षा (MP Board) में सम्मिलित हो सकते हैं। ऐसे परीक्षार्थी एक अगस्त से 10 अगस्त 2021 तक परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए एमपी ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीयन करा सकेंगे। ऐसे परीक्षार्थियों का परीक्षा के आधार पर तैयार परीक्षा परिणाम ही अंतिम रूप से मान्य किया जाएगा।

MP Board परीक्षा परिणाम के संबंध में छात्रों की शिकायत निवारण के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। यदि किसी छात्र को अंको के संबंध में कोई शिकायत है तो वह MP Online Portal पर बनाए गए विशेष साफ्टवेयर के माध्यम से अपना अनुक्रमांक एवं आवेदन क्रमांक अंकित कर हाईस्कूल के विषयवार अंक एवं इसके आधार पर मैप किये गये हायर सेकेण्डरी परीक्षा के विषयों के अंक के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है।परीक्षार्थियों को दी जा रही अंकसूचियों में यदि किसी प्रकार की लिपिकीय त्रुटि है तो परीक्षा परिणाम घोषित होने की तिथि से 3 माह की अवधि तक उसे ठीक कराने के लिये निःशुल्क व्यवस्था है।3 माह तक किसी प्रकार का सुधार न कराने वाले छात्र-छात्राओं को बाद में ऐसे सुधार कराने के लिये स-शुल्क आवेदन करना होगा।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: मप्र के 15 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, ऑरेंज अलर्ट जारी

बता दे कि इस बार MP Board 12वीं का रिजल्ट बेस्ट ऑफ फाइव मूल्यांकन पद्धति के आधार पर परीक्षा परिणाम तैयार किया गया है। सभी विद्यार्थियों को उत्तीर्ण किया गया है। परीक्षा परिणाम शत-प्रतिशत रहा है, जिसमे 52.28 प्रतिशत परीक्षार्थी प्रथम श्रेणी में, 40.28 प्रतिशत परीक्षार्थी द्वितीय श्रेणी में और 7.43 प्रतिशत परीक्षार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। शिक्षा विभाग ने छात्रों के भविष्य और सुरक्षा को ध्यान में रखकर परीक्षा परिणाम तैयार किया है।वही फाइन आर्ट्स का रिजल्ट 100% रहा। इसमें एक भी बच्चे का रिजल्ट कैंसिल नहीं किया गया। जबकि आर्ट्स 359, साइंस में 281, कॉमर्स 241, एग्रीकल्चर 88, होम साइंस 16 बच्चों के रिजल्ट कैंसिल किए गए।12वीं में 1 लाख 71 हजार 928 छात्राएं और 1 लाख 71 हजार 136 फर्स्ट डिवीजन से पास हुई हैं।

गौरतलब है कि MP Board द्वारा 6 लाख 56 हज़ार 148 नियमित परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम घोषित किये गए हैं। इनमें 3 लाख 43 हज़ार 64 (52.28 प्रतिशत) परीक्षार्थी प्रथम श्रेणी में, 2 लाख 64 हज़ार 295 (40.28 प्रतिशत) परीक्षार्थी द्वितीय श्रेणी में और 48 हज़ार 787 (7.43 प्रतिशत) परीक्षार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। इस प्रकार कुल 71 हज़ार 996 स्वाध्यायी परीक्षार्थियों में 19 हज़ार 925 (27.67 प्रतिशत) परीक्षार्थी प्रथम श्रेणी में, 33 हज़ार 944 (47.14 प्रतिशत) परीक्षार्थी द्वितीय श्रेणी में और 18 हज़ार 126 (25.17 प्रतिशत) परीक्षार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। अन्य राज्य या बोर्ड के कुल 6 हज़ार 348 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम के लिए उनकी 10वीं की अंकसूची का सत्यापन किया जा रहा है। अंकसूची सत्यापन के बाद इन परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणाम भी घोषित किया जायेगा।

यह भी पढ़े.. नवनियुक्त कांग्रेस जिलाध्यक्ष के बेटे की सड़क हादसे में मौत, शिवराज-दिग्विजय ने जताया शोक