निकाय चुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में होने वाले निकाय चुनावों (Urban Body Election 2021) को लेकर राज्य निर्वाचन आयुक्त (State election commissioner) बसंत प्रताप सिंह(Basant Pratap Singh)का बड़ा बयान सामने आया है। आयुक्त ने कहा है कि हाईकोर्ट (High Court) के निर्देशानुसार आयोग मार्च में एक निर्वाचन की घोषणा अनिवार्यत: करेगा।वही उन्होंने यह भी स्पष्ट कह दिया है कि चुनाव EVM से ही कराए जाएंगे। इधर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) ने आयुक्त को लेटर लिख बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग की है।

यह भी पढ़े.. निकाय चुनाव 2021: आचार संहिता से पहले कमलनाथ ने उठाई यह मांग, क्या पूरी करेगा आयोग?

दरअसल, आज राज्य निर्वाचन आयोग में नगरीय निकायों  चुनाव (Urban Body Election) एवं त्रि-स्तरीय पंचायतों(Panchayat Election 2021)  के आम निर्वाचन के संबंध में राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के सदस्यों के साथ बैठक आयोजित हुई। बैठक में राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने निर्वाचन प्रक्रियाओं की जानकारी दी और मार्च में ही एक निर्वाचन की घोषणा अनिवार्यत: करेगा।

बैठक में राजनैतिक दल के प्रतिनिधियों ने कहा कि पहले त्रि-स्तरीय पंचायतों के निर्वाचन करवाये जायें। पंचायत निर्वाचन अभी नहीं करवाये गये तो वर्षा ऋतु में पंचायत निर्वाचन संभव नहीं होंगे, क्योंकि एमपी बोर्ड  (Board of Secondary Education-MP Board)  की परीक्षाएँ 30 अप्रैल से 18 मई तक और सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएँ (CBSE Board Exams) 4 मई से 12 जून तक निर्धारित हैं। नगरीय निकाय चुनाव  वर्षा ऋतु (Rainy Season) में भी हो सकते हैं।

यह भी पढ़े.. Bribe: MP में लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई, 2 लाख की रिश्वत लेते धराया सरपंच

इस पर राज्य निर्वाचन आयुक्त  सिंह ने कहा कि पंचायत निर्वाचन के संबंध में बहुत सी कार्यवाही शासन स्तर पर लंबित है। यह कार्यवाही आगामी 15 से 20 दिन में पूरा होने की स्थिति में ही पंचायत निर्वाचन करवाने पर विचार किया जा सकता है। अगर ऐसा नहीं हुआ तो पहले नगरीय निकायों के निर्वाचन करवाये जायेंगे।

बैठक में कुछ राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों ने EVM के बजाय मतपत्र से निर्वाचन कराने की बात कही। राज्य निर्वाचन आयुक्त ने स्पष्ट किया कि निर्वाचन ईव्हीएम से ही करवाये जायेंगे। राजनैतिक दलों (Political Parties) के सदस्यों द्वारा मतदाता सूची में हुई त्रुटियों की जानकारी देने पर राज्य निर्वाचन आयुक्त  सिंह ने कहा कि सभी शिकायतों का त्वरित निराकरण किया जा रहा है।

यह भी पढ़े.. MP: लापरवाही पर इन स्कूलों को नोटिस, मान्यता रद्द करने की चेतावनी

इससे पहले सोमवार को आयुक्त ने पुलिस महानिदेशक (MP DGP) विवेक जौहरी और अपर मुख्य सचिव राजेश राजौरा कर कहा था कि मतदान के दौरान अतिसंवेदनशील और संवेदनशील मतदान (Voting) केन्द्रों में पर्याप्त पुलिस बल (MP POLICE) लगाया जाय। पंचायत निर्वाचन तीन और नगरीय निकाय चुनाव दो फेज में करवाये जायेंगे। अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों में वीडियो कैमरे (VIDEO CAMERA) भी लगवाये जायेंगे।निर्वाचन की घोषणा के साथ ही आदर्श आचरण संहिता (code of conduct) प्रभावशील हो जायेगी। इसका शख्ती से पालन सुनिश्चित कराया जाय।