मप्र उपचुनाव : जातीय समीकरण पर फोकस, सीएम ने लिया फीड बैक, मंत्रियों को सौंपी जिम्मेदारी

मप्र उपचुनाव में खंडवा लोकसभा सीट और 3 विधानसभा सीटों जोबट, रैगांव और पृथ्वीपुर उपचुनाव के लिए 30 अक्टूबर को मतदान होगा।

मप्र उपचुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मप्र उपचुनावों (MP By-election 2021)  की तारीखों के ऐलान के बाद सियासी हलचल तेज हो गई है।इन चुनावों को 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव के सेमीफाइनल की तरह देखा जा रहा है। चारों सीटों में से सबसे महत्वपूर्ण खंडवा लोकसभा सीट को माना जा रहा है, जिसमें बीजपी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है।वही 30 अक्टूबर को होने वाले मतदान से पहले बीजेपी और कांग्रेस ने अपनी अपनी रणनीतियों पर काम करना शुरु कर दिया है। तारीखों के ऐलान के बाद ही देर रात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीएम हाउस में बड़ी बैठक बुलाई और प्रभारी मंत्रियों से फीडबैक लिया।

यह भी पढ़े… आउटसोर्स कर्मचारियों में बढ़ा आक्रोश, मांगों पर अड़े, ऊर्जा मंत्री बोले-जल्द करेंगे विचार

दरअसल, सीएम हाउस (CM House) में भाजपा सत्ता (MP BJP) और संगठन की उच्च स्तरीय बैठक हुई में सीएम शिवराज सिंह चौहान, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा सहित संगठन के पदाधिकारी और सरकार के मंत्रियों में उपचुनाव में जीत के फार्मूले पर चर्चा हुई। मुख्यमंत्री ने चारों सीटों (एक लोकसभा और 3 विधानसभा) के प्रभारियों से फीडबैक लिया है और अलग-अलग वर्गों को साधने के लिए प्रभारी मंत्रियों को जिम्मेदारी दी।वही प्रदेश महामंत्रियों के साथ जमीनी रिपोर्ट के आधार पर रणनीति बनाई और जुट जाने को कहा।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो दमोह उपचुनाव (Damoh By-election) में मिली हार के बाद बीजेपी कोई रिस्क नहीं लेना चाहती है और इसी के चलते मुख्यमंत्री (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) ने चारों सीटों पर बनाए गए प्रभारी मंत्रियों से अलग-अलग चर्चा कर एक एक सीट का फीडबैक लिया। वही हाल ही में बनाए गए महामंत्रियों के साथ चुनावी क्षेत्रों की जमीनी रिपोर्ट और जातीय समीकरण के आधार आगे की रणनीति पर प्लान बनाया। खास बात ये है कि सभी सीटों पर जातियों के हिसाब से मोर्चों और प्रकोष्ठों को जिम्मेदारी दी गई है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि प्रभारी मंत्री उपचुनाव (Madhya Pradesh By-election 2021) वाले क्षेत्रों में अभी से जुट जाएं। प्रभारी विधानसभा पर पूरी तरह से फोकस करें। सरकार की योजनाओं और कार्यों के बारें में जनता को अवगत करवाएं और जो घोषणाएं हुई हैं, वो समय रहते पूरी हो जाएं इसको भी सुनिश्चित करें। वही मंत्रियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे निचले स्तर से मिलने वाले फीडबैक के हिसाब से आगे की रणनीति तैयार करते चले, ताकी कही भी चूक ना हो। वही खबर तो ये भी है कि इस उपचुनाव में मंत्रियों के परफॉर्मेंस का रिपोर्ट कार्ड तैयार होगा।

यह भी पढ़े.. Sarkari Naukri 2021: 10वीं-12वीं पास के लिए 3261 पदों पर भर्ती, जल्द करें एप्लाई

बता दे कि मप्र उपचुनाव में खंडवा लोकसभा सीट और 3 विधानसभा सीटों जोबट, रैगांव और पृथ्वीपुर उपचुनाव के लिए 30 अक्टूबर को मतदान होगा। निर्वाचन आयोग (Election Commission) के अनुसार, 1 अक्टूबर को इसका नोटिफिकेशन जारी होगा, जिसके बाद 8 अक्टूबर तक उम्मीदवार नामांकन दाखिल कर सकेंगे। 11 अक्टूबर को नामांकन की जांच की जाएगी। 13 अक्टूबर को नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख रखी गई है। 30 अक्टूबर को मतदान होगा, जिसके बाद 2 नवंबर को वोटों की गिनती की जाएगी।वहीअभी तक बीजेपी-कांग्रेस (MP Congress) ने अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान नहीं किया है।