MP College

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने कॉलेज छात्रों को लेकर एक बड़ा फैसला किया है, इसके तहत  उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा विभाग और  लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग (Public Health and Family Welfare Department) मिलकर कॉलेज छात्रों (College Student) को लेकर एक अभियान चलाएगा। इसमें शिक्षकों के साथ 16 लाख छात्रों को जोड़ा जाएगा, जो लोगों को कोरोना और वैक्सीनेशन के प्रति जागरुक करेंगे।

यह भी पढ़े.. MP Weather : मप्र के मानसून सक्रिय, 30 से अधिक जिलों में बारिश के आसार, अलर्ट जारी

दरअसल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा विभाग (Department of Higher Education and Technical Education)  द्वारा लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सहयोग से कोविड महामारी के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए ‘युवा शक्ति कोरोना मुक्ति’ अभियान चलाया जाएगा। इसके अंतर्गत उच्च और तकनीकी शिक्षा के शासकीय महाविद्यालयों (Government College) के शिक्षकों (Teachers) एवं लगभग 16 लाख विद्यार्थियों को ‘कोविड अनुकूल व्यवहार एवं वैक्सीनेशन’ के संबंध में प्रशिक्षण देकर उनके माध्यम से लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक किया जाएगा।

अभियान के अंतर्गत कॉलेजों में विद्यार्थियों (College Student) को छोटे-छोटे समूहों में कोविड अनुकूल व्यवहार और टीकाकरण के महत्व के बारे में जानकारी दी जायेगी। ये विद्यार्थी, अपने परिवार तथा आस-पास के समाज के नागरिकों को कोरोना से बचाव और Vaccination से होने वाले लाभों की जानकारी देंगे।अभियान की प्रभावी रियल टाइम ऑनलाइन मॉनीटरिंग के लिए एक मोबाइल एप  (Mobile App) भी विकसित किया गया है, जिसके माध्यम से ‘युवा शक्ति कोरोना मुक्ति’ अभियान की प्रतिदिन की गतिविधियों और प्रगति की समीक्षा की जायेगी।

यह भी पढ़े.. MP स्कूल शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला- 1 से 8वीं के छात्रों को मिलेगा लाभ, निर्देश जारी

अभियान की पूर्व तैयारियों के संबंध में आज प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा अनुपम राजन, सचिव तकनीकी शिक्षा  मुकेश गुप्ता, राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन एवं यूनिसेफ (National Rural Health Mission and UNICEF) के राज्य स्तरीय अधिकारियों द्वारा सभी जिलों के लीड कॉलेजों, इंजीनिरिंग एवं पॉलीटेक्निक कॉलेज (engineering and polytechnic college) के प्राचार्य, जिला टीकाकरण अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया।