MP में कोरोना की रफ्तार तेज, आज 48 नए पॉजिटिव, एक्टिव केस 300 पार, इन जिलों में बिगड़े हालात

पिछले 28 दिनों में 631 संक्रमित मिल चुके है। इनमें सबसे ज्यादा इंदौर में 279 और भोपाल में 211 शामिल है। भोपाल में अभी 72 और इंदौर में 167 एक्टिव केस है।

mp corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में नए साल से पहले आज 29 दिसंबर 2021 को बड़ा कोरोना ब्लास्ट हुआ है। आज बुधवार को 48 नए कोरोना पॉजिटिव (MP Corona Update today)  मिले है। चिंता की बात ये है कि अकेल इंदौर में 32 केस मिले है।एक्टिव केसों की संख्या 300 पार हो गई है और संक्रमण दर 0.08% पहुंच गई है। राहत की खबर ये है कि 26 मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौटे है और रिकवरी रेट 98% से अधिक है।

यह भी पढ़े.. MP में लापरवाही पर एक्शन-226 पंचायत सचिवों और 51 रोजगार सहायकों का वेतन रोका

आज बुधवार को 48 नए केसों में सबसे ज्यादा इंदौर में 32 संक्रमित मिले है। इसके बाद भोपाल में 6, उज्जैन, झाबुआ और जबलपुर में 2-2 एवं नरसिंहपुर, ग्वालियर, खरगोन और रतलाम में 1-1 मरीज मिले है। इन केसों के बाद प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 307 (MP Corona Active Case) हो गई है। पिछले 24 घंटे में 64 हजार जांचे की गई थी।चिंता की बात ये है कि कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की दस्तक के बाद प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या में दिनों दिन बढोतरी हो रही है।

यह भी पढ़े.. Vyapam Recruitment 2021: 12वीं पास के लिए सरकारी भर्ती, जनवरी में परीक्षा, जानिए आयु-पात्रता

पिछले 28 दिनों में 631 संक्रमित मिल चुके है। इनमें सबसे ज्यादा इंदौर में 279 और भोपाल में 211 शामिल है। भोपाल में अभी 72 और इंदौर में 167 एक्टिव केस है।दिसंबर तक भोपाल-इंदौर समते 22 जिलों में संक्रमण फैल चुका है। जबलपुर, ग्वालियर और उज्जैन के बाद अब अलीराजपुर, बैतूल, शहडोल, छिंदवाड़ा और खरगोन जिलों में भी केस लगातार सामने आ रहे हैं।  मध्य प्रदेश में 7 लाख 93 हजार 809 कोरोना संक्रमित हो चुके है। इनमें से 7 लाख 82 हजार 969 लोग ठीक हो चुके है। वहीं, कोरोना के कारण 10 हजार 533 की जान जा चुकी है।

सीएम ने दिए ये निर्देश

सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan)  ने प्रदेश में नाइट कर्फ्यू के अलावा अन्य कोई बंदिशें नहीं रहेंगी।विद्यालयों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ विद्यार्थियों की उपस्थिति की व्यवस्था जारी रहे। अभी स्थिति भले गंभीर नहीं, लेकिन सभी जरूरी ऐहतियात बरते जाना चाहिए। शिक्षा मंत्री और अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य प्रतिदिन स्थिति की समीक्षा भी करें। प्रदेश में ओमिक्रॉन के 9 प्रकरण के संबंध में विस्तार से जानकारी ली। इन संक्रमित रोगियों में से 7 प्रकरण में रोगी पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। अन्य दो भी स्वस्थ हो रहे हैं। रोगियों में गंभीर लक्षण नहीं पाए गए हैं। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग पर अवश्य निगाह रखी जाए।