MP News: केंद्र की योजना में प्रथम स्थान पर मप्र, अब तक 22 लाख हितग्राहियों को मिला लाभ

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि योजना इस योजना का लाभ जन-जन को मिले और अधिक से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा सकें।

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार (shivraj government) द्वारा जनता के हितों के लिए कई तरह की योजना संचालित की जा रही है। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana) में मध्यप्रदेश को वर्ष 2020-21 के लिए राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। इस बात की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (sivraj singh chauhan) ने इस योजना से जुड़े लोगों और महिला एवं बाल विकास विभाग (Women and Child Development Department) के अधिकारी कर्मचारियों को बधाई दी है। इसके साथ ही सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने इस योजना को और अधिक तेज गति देने और प्रदेश की जनता को इस योजना का लाभ पहुंचाने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

दरअसल केंद्र सरकार के महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक कार्यक्रम आयोजित की गई थी। इस कार्यक्रम में भारत सरकार की टीम द्वारा बताया गया कि मध्यप्रदेश में मातृ वंदना योजना अलार्म से वर्तमान तक अब तक 22 लाख हितग्राहियों को 942 करोड़ का मातृत्व लाभ वितरण किया है। जो कि राष्ट्रीय स्तर पर सबसे प्रथम स्थान पर है।

इसके अलावा समीक्षा बैठक में बताया गया कि प्रदेश के आगर मालवा, छिंदवाड़ा, शहडोल, अलीराजपुर और सीहोर जिले में इस कार्य का उत्कृष्ट प्रदर्शन किया गया है। जिसके राष्ट्रीय स्तर पर भी सराहना की गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य की टीम को बधाई दी। मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि योजना इस योजना का लाभ जन-जन को मिले और अधिक से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा सकें। इसलिए इसकी जानकारी लोगों तक पहुंचाने का काम अधिकारी कर्मचारियों का है। शिवराज ने कहा कि हम जनता की सेवा के लिए यहां है। हमारी योजना से जनता का लाभ हो रहा है तो यह हमारे लिए सबसे सौभाग्य का विषय है।

Read More:Niwari News: पुलिस ने उत्तरप्रदेश के भू और शराब माफियाओं पर कसा शिकंजा, 9 माफियाओं पर की कार्यवाही

बता दें कि 1 जनवरी 2017 को प्रधानमंत्री मातृ योजना प्रदेश में लागू की गई थी। इस योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को मजदूरी की हानि की आंशिक क्षतिपूर्ति के रूप में नगद प्रोत्साहन प्रदान किए जाते हैं। इस योजना के तहत गर्भवती महिला यात्री महिलाओं को प्रथम जीवित जन्मे बच्चों पर शर्त पूरी करने पर 5000 रुपए तीन किस्त में दिए जाते हैं।

जिसमें प्रथम किस्त 1000 रुपए का आंगनबाड़ी केंद्रों पर गर्भावस्था का सिर में पंजीयन कराने पर, द्वितीय किस्त 2000 रुपए का एक प्रसव पूर्व जांच कराने और गर्भावस्था के 6 माह पूर्ण होने जबकि तीसरी किस्त के 2000 रूपए बच्चे के जन्म का पंजीयन कराने पर प्रदान किया जाता है। वहीं राज्य सरकार द्वारा हितग्राहियों को मातृ वंदना योजना से जोड़ने के लिए उमंग एप का निर्माण किया गया है। जिसका उपयोग कर हितग्राही के आवेदन पत्र को इस लिंक पर जोड़ा जा सकेगा।