प्रदेश अध्यक्ष के लिए अजय सिंह के नाम पर सहमत हुए दिग्गी और नाथ

nath-and-digvijay-want-Ajay-sing-to-be-PCC-chief

भोपाल। विधानसभा चुनाव में मिली जीत के बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री के पद की दोहरी जिम्मेदारी संभालने वाले कमलनाथ अब पद से मुक्त होना चाहते हैं। इस पद के लिए सबसे प्रबल दावेदार पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को माना जा रहा है। लेकिन मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस पद के लिए दिग्विजय सिंह और मुख्यमंत्री कमलनाथ पूर्व नेता प्रतिपक्ष का नाम आगे बढ़ा सकते हैं। दोनों ही नेता चाहते हैं कि इस पद पर अजय सिंह काबिज हो। राजनीति के गलियारों में यह बात पहले से चर्चित है कि दिग्विजय सिंह और सिंधिया घराने में सिायसी उठापटक चलती रहती है। 

मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से खबर दी गई है कि मुख्यमंत्री कमलना और दिग्विजय सिंह पीसीसी चीफ के लिए उनके खेमे के किसी व्यक्ति को लाना चाहते हैं। पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह दोनों ही के करीबी माने जाता हैं। यही नहीं, कांग्रेस प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया भी उनके समर्थन में हैं। वहीं, दूसरी ओर सिंधिया समर्थक अपने नेता को इस पद पर बैठा देखना चाहते हैं। वह इसके लिए रड़ संघर्ष कर रहे हैं। हाल ही में सिंधिया लोकसभा चुनाव हारे हैं। उनके हार के बाद से ही सिंधिया सर्थक उन्हें पीसीसी चीफ बनवाने के लिए प्रयास कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने बकायदा एक अभियान भी छेड़ रखा है। सिंधिया समर्थक मंत्री इमरती देवी और गोविंद राजपूत ने पूर्व में मांग की थी सिंधिया को पीसीसी चीफ बनाना चाहिए। 

दूसरी ओर अजय सिंह के समर्थक भी सिंधिया खेमे को तगड़ा झटका देने की तैयारी में हैं। अजय सिंह को मुख्यमंत्री और दिग्विजय सिंह का समर्थन मिल रहा है। दोनों ही दिग्गज नहीं चाहते हैं सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाए। इसके पीछे एक बड़ी वजह कैबिनेट में सिंधिया समर्थक और सीएम के बीच हुई तीखी नोकझोंक को भी माना जा रहा है। जिसके बाद से सीएम के करीबियों का कहना है कि नाथ नहीं चाहते अब सिंधिया इस पद पर नियुक्त किए जाएं।