New Education Policy: स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का शिक्षकों को लेकर बड़ा बयान

MP Board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते कक्षा 1 से 8वीं से स्कूल (School) 15 अप्रैल 2021 तक बंद है, लेकिन ऑनलाइन क्लासेस (Online Classes), दूरदर्शन और Radio पर प्रोग्राम जारी है, इसी बीच स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार (Inder Singh Parmar) का बड़ा बयान सामने आया है।इंदर सिंह परमार ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (National Education Policy 2020) के उद्देश्यों को क्रियान्वयन करने से दिशा में सभी शिक्षक (Teacher) तकनीक और प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करें।

यह भी पढ़े.. Indore News: रिटायर्ड पुलिस अधिकारी के बंगले पर चल रहे हाई प्रोफाइल Sex Racket का खुलासा

दरअसल, स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार आज सोमवार को एडोब डिजिटल दिशा प्रोग्राम के शिक्षक प्रशिक्षण समापन पर शिक्षकों को वर्चुअली सम्बोधित करने पहुंचे थे। इस मौके पर इंदर सिंह परमार ने कहा कि पढ़ाई (Study) को तकनीक एवं प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से अधिक रोचक और ज्ञानवर्धक बनाए। इंदर सिंह परमार ने कहा कि आपके योगदान और परिश्रम से ही भारत (India) विश्वगुरु के रूप में स्थापित हो पायेगा।शिक्षक प्रशिक्षण प्रोग्राम में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 4 शिक्षकों को एडोब सर्टिफिकेशन के साथ ही 1-1 हजार और एक शिक्षक को 1500 रुपए से पुरस्कृत भी किया।

वही मंगलवार 6 अप्रैल को दोपहर 3 बजे इंदर सिंह परमार द्वारा राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान 2020 कार्यक्रम में प्रदेश के उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों और प्राचार्यों को सम्मानित करेंगे। कोविड 19 को दृष्टिगत रखते हुए कार्यक्रम का आयोजन मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया जायेगा। सभी जिलों के शासकीय विद्यालयों (Government School) के प्राचार्य और शिक्षक जिलो में स्थित एनआईसी वीसी रूम से वर्चुअली जुड़ेंगे।

यह भी पढ़े.. Transfer: मध्य प्रदेश में IPS अधिकारियों के तबादलें, यहां देखें लिस्ट

कार्यक्रम का लाइव प्रसारण स्कूल शिक्षा विभाग(School Education Department) के (Facebook) और  (Twitter) पेज एवं विमर्श यूट्यूब चैनल पर किया जाएगा।लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा आयोजित ऑनलाइन राज्य स्तरीय शैक्षिक संगोष्ठी 2020 के प्रथम एवं द्वितीय विजेता 2 शिक्षकों को परमार भोपाल में प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित करेंगे।

राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान 2020 के लिए सम्मानित किए जाने वाले शिक्षकों को जिला कलेक्टर द्वारा प्रशस्ति पत्र, शॉल, श्रीफल एवं सम्मान राशि 25 हजार प्रदान की जाएगी।इसके साथ ही ऐसे स्कूल, जिनके परीक्षा परिणाम में विगत 3 वर्षों से उत्तरोत्तर प्रगति परिलक्षित हुई है एवं स्कूल का विगत वर्ष का परीक्षा परिणाम 90% या उससे अधिक रहा है, उन स्कूलों के प्राचार्य को भी सम्मानित किया जाएगा।

यह भी पढ़े.. सरकारी नौकरी: 10वीं पास के लिए सुनहरा मौका, इन पदों पर निकली है भर्ती

गौरतलब है कि अंतर्राष्ट्रीय संस्था एडोब इंटरनेशनल (International institution adobe international) द्वारा विगत 6 माह से एडोब डिजिटल दिशा प्रोग्राम के तहत प्रदेश के 53 EFA स्कूलों के लगभग 1700 से अधिक शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। प्रशिक्षण प्रोग्राम के अंतर्गत शिक्षक एडोब स्पार्क में डिजिटल प्रोजेक्ट बनाना, एडोब टूल्स और स्किल्स का उपयोग करना आदि सिखाया जाता है।

इन टूल्स और सॉफ्टवेयर (Software) का शिक्षण में उपयोग कर छात्रों में रचनात्मकता उत्पन्न करके कक्षा शिक्षण को अधिक रोचक बनाया जा सकता है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (New Education Policy ) के अंतर्गत छात्रों को सीखने के परिणामों को बढ़ाने और उनके कौशल को विकसित करने के लिए एडोब का मध्यप्रदेश के सभी 53 ईएफए स्कूलों को निरंतर सहयोग मिला रहा है।