अब सरकार की मदद के लिए आगे आए लाखों कर्मचारी, किया ये बड़ा ऐलान

भोपाल।

प्रदेश में कोविड19 महामारी से बढ़ते संकट से निपटने के लिए एवं जनता की मदद के लिए नेताओं एवं उद्योगपतियों के बाद अब तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी सरकार की मदद के लिए सामने आए हैं। प्रदेश के लाखों कर्मचारियों ने अपने 1 दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा करने का ऐलान किया है। जिसके लिए वीडियो कांफ्रेंस के जरिए प्रत्येक जिला अध्यक्ष से सहमति दे दी गई है।

मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष ओपी कटिहार एवं महामंत्री लक्ष्मीनारायण शर्मा ने बताया कि मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के आवाहन पर प्रदेश के लाखों तृतीय वर्ग कर्मचारी करोना वायरस के संकट से निपटने के लिए मध्य प्रदेश की राज्य सरकार को मदद करने के दृष्टिगत मुख्यमंत्री सहायता कोष में अपना एक दिन का वेतन जमा करेंगे। इसके लिए सभी जिला अध्यक्षों से आज वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बात की गई और इस बात की सहमति दी गई कि इस संकट की घड़ी में प्रदेश का प्रत्येक कर्मचारी मध्य प्रदेश सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलेगा और जिस भी प्रकार के न्यायोचित सहयोग की प्रदेश के कर्मचारियों से आवश्यकता होगी इसको भी पूरा करेंगे।

बता दें कि वेतन जमा करने के लिए जिन लोगों ने प्रयास किया उनमें प्रमुख हैं। सर्व श्री ओपी, कटियार, लक्ष्मी नारायण शर्मा एसएस रजक, एसएन शुक्ला, मोहन अय्यर, मोहम्मद सलीम खान, मृगेंद्र पांडे, अरविंद श्रीवास्तव, अजय जयसवाल, अशोक चतुर्वेदी, फूलेन्द बहादुर, प्रभेन्द गौतम, सुभाष अवाड, अतुल मिश्रा, शत्रुघ्न कल्याणे, आरके नामदेव, भारती पाराशर, राघवेंद्र तोमर, आर के कटियार, शैलेंद्र तोमर, एसएल पंजवानी, रजनीश तिवारी, भानु सिंह, कैलाश सक्सेना, हरिओम पांडे, रघुवीर पवार, राजेश तिवारी, सुनील चढ़ा, राकेश खरे, महेश साहू और सुमित द्विवेदी।