छिंदवाड़ा। मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में एक और कोरोना पॉजिटिव ने दम तोड़ दिया है। मृतक इंदौर में वाणिज्य कर विभाग में कम्प्यूटर ऑपरेटर के पद पर पदस्थ था।20 मार्च को ही वह इंदौर से छिंदवाड़ा लौटा था।लेकिन किसी को कोई सूचना नही दी थी। गुरुवार रात जब तबियत बिगड़ी तो वह एक निजी अस्पताल में भर्ती हुआ ।जब उसके टेस्ट किए गए तो रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव निकला। इस घटनाक्रम के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया है।

वही दूसरी तरफ आइसोलेशन वार्ड में रखें इस कर्मचारी के पिता की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है । जिला प्रशासन ने दोनों पॉजिटिव मरीज जहां रिश्तेदारी में गए थे, जिन स्थानों पर इलाज करवाया था उन स्थानों को सील कर दिया है ।बताया जा रहा है कि क्वारंटाइन अवधि में युवक अपने रिश्तेदारों के घर सहित अन्य परिचितों से मिला। वह दो अस्पतालों में भी गया था।दोनों अस्पताल अभी बंद हैं। उन्हें सैनिटाइज किया गया है।

फिलहाल 31 लोगों का पता लगाया है जो युवक के संपर्क में आए थे। इनको होम आइसोलेट करते हुए उन सभी के सैंपल लेकर जांच के लिए मेडिकल कॉलेज जबलपुर भेजे हैं।  वही मरीज ने इंदौर से आने के बाद गुलाबरा, गांगीवाड़ा मानेगांव, माल्हनवाड़ा, केलवारी कपरवाड़ी, सारना सिवनी रोड के लोगों से सपंर्क किया था।इसकी भी जानकारी जुटाई जा रही है।

बता दे कि छिंदवाड़ा पूर्व सीएम कमलनाथ का गृह जिला है और यही से उनके बेटे नकुलनाथ कांग्रेस के इकलौते सांसद है। प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 157 पहुंच गई है।