सियासी हलचल के बीच नये PCC चीफ को लेकर कमलनाथ का बड़ा बयान

अतुल सक्सेना/ग्वालियर। मुख्यमंत्री कमलनाथ सिंह शनिवार शाम बहुत थोड़े समय के लिए ग्वालियर आए लेकिन अपने कुछ मिनट के दौरे में वे सियासी हलचल और तेज़ कर गए हैं। चलते चलते हुई पत्रकारों के साथ चर्चा में कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश को भी जल्दी ही पीसीसी चीफ मिल जाएगा। सोनिया गांधी नाम तय कर लेंगी। खास बात ये है कि कमलनाथ का ये बयान उस समय आया है जब सिंधिया पार्टी से नाराज़ चल रहे हैं और शनिवार को वे दिल्ली में समन्वय समिति की बैठक के बीच से उठकर चले गये।

दिल्ली में कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक में शामिल होने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ दिल्ली से विशेष विमान से ग्वालियर पहुंचे। वे एयरपोर्ट से सीधे विधायक मुन्ना लाल गोयल के परिवार की शादी में शामिल होने बालाजी गार्डन पहुंचे। यहाँ उन्होंने वर-वधू को आशीर्वाद दिया और चले गए। इसी बीच मीडिया ने उनसे कड़ी सुरक्षा के बीच बहुत मुश्किल से बात की। चलते चलते हुई इस बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं अपने साथी विधायक मुन्ना लाल जी के यहाँ शादी में आया था, बहुत कठिन था समय निकालना लेकिन प्यार से बुलाया था तो आना ही था। पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने दिल्ली में हुई समन्वय समिति की बैठक के बारे में बताते हुए कहा कि बैठक में
पंचायत चुनाव, नगरीय निकाय चुनाव और संगठन में परिवर्तन पर चर्चा हुई है, जिसके रिजल्ट जल्द देखने को मिलेंगे।

सोनिया गांधी तय करेंगी पीसीसी चीफ का नाम, जल्दी होगी घोषणा

पत्रकारों ने जब मुख्यमंत्री से पूछा कि भाजपा ने अपना नया प्रदेश अध्यक्ष घोषित कर दिया है, कांग्रेस कब पीसीसी चीफ घोषित करेगी?  सवाल सुनने के बाद कमलनाथ ने कहा कि हमारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ये नाम तय करेंगीं और जल्द ही इसकी घोषणा होगी। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री के इस बयान के कई मायने हैं। ये उस समय आया है जब कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया नाराज चल रहे हैं। सरकार के प्रति चल रही अपनी नाराजगी का इजहार सिंधिया ने उस समय कर दिया जब वे दिल्ली में हो रही समन्वय समिति की बैठक को बीच में छोड़कर चले गए।

बहरहाल सिंधिया का समन्वय समिति की बैठक को छोड़कर जाना और उसके बाद दिग्विजय सहित अन्य लोगों का बैठक जारी रखना और उसमें संगठन में परिवर्तन पर चर्चा ने सियासी हलचल तेज कर दी है। राजनीतिक पंडित कमलनाथ की बातों में वो कयास ढूंढ रहे हैं जो उन्होंने इस बैठक के पहले सोनिया गांधी से मुलाकात के दौरान की होंगी। माना ये भी जा रहा है कि इस बैठक में सिंधिया को लेकर भी कमलनाथ ने सोनिया गांधी से बात की है।