सिंधिया की दो टूक- बंद करें ट्रांसफर उद्योग, पूरे प्रदेश में इसकी गूंज है

दतिया।

सत्ता में आने के बाद से ही प्रदेश की कमलनाथ सरकार तबादलों को लेकर चर्चा में बनी हुई है। विपक्ष इसे मुद्दा बनाकर कई बार सरकार की घेराबंदी कर चुका है।विपक्ष तो इसे तबादला उद्योग तक करार दे चुका है। यहां तक की अपने भी सरकार पर सवाल खड़े कर चुके है। ऐसे में अब कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी लगातार हो रहे तबादलों को लेकर नाराजगी जताई है।सिंधिया का कहना है कि कृपया दतिया में ट्रांसफर उद्योग बंद करें, जिसकी पूरे प्रदेश में गूंज है।

दरअसल, बुधवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया दौरे के लिए दतिया पहुंचे थे। यहां उन्होंने कांग्रेस नेताओं से कई मुद्दों पर चर्चा की।इस दौरान कार्यकर्ताओं ने मांग करते हुए कहा कि प्रशासन में उनकी सुनवाई नही हो रही। चिकित्सकों को मप्र सरकार सुविधाएं नहीं दे रही है, रहने के लिए जगह नहीं है, हाऊस रेंट महज दो हजार मिलता है। पदोन्नति वर्षों से नहीं हुई। वेतनमान का लाभ नहीं मिल रहा है।दतिया कोतवाली सिटी में थी उसे हटाकर दो किमी दूर कर दिया। गोराघाट में गन्ना की फैक्ट्री बंद है। किसानों को गन्ना का भुगतान नहीं हुआ है, धीरपुरा की फैक्ट्री चालू नहीं हुई है।पंचायत क्षेत्र में रेत उपलब्ध न होने के कारण विकास कार्य बंद हैं। 

इस पर सिंधिया ने कहा कि बात इसलिए नही सुनी जा रही है कि (उदाहरण देते हुए कहा ) आप रक्षा सिरौनिया को हटाकर घनश्याम सिंह को लाना चाहते है।जिसे मैं नही जानता।उसे हटाओ, जिसे मैं जानता हूं, उसे लाओ… यह चल रहा है अभी। कृपया दतिया में ट्रांसफर उद्योग बंद करें, जिसकी पूरे प्रदेश में गूंज है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here