politics-high-on-digvijay-singh-statement-on-air-strike-bjp-attack-

भोपाल| भारतीय वायुसेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक को लेकर बयानबाजी से सियासत गरमा गई है| कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह द्वारा  एयर स्ट्राइक का सबूत मांगने और इमरान खान की तारीफ पर बवाल मच गया है| दिग्विजय को चौतरफा घेरने में भाजपा जुट गई है| भाजपा नेताओं ने इसका विरोध किया है और रविवार शाम को सभी जिला मुख्यालयों पर वे इसका विरोध करेंगे| नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव में हमला बोलते हुए कहा है कि कांग्रेस नेता एयर स्ट्राइक के सबूत मांग कर सेना का अपमान कर रहे है। दिग्विजय सिंह को देश द्रोही मानसिकता से बाज आना चाहिए। सिंह को अगर सबूत ही चाहिए तो उन्हें पाकिस्तान की नागरिकता ले लेनी चाहिए।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा दिग्विजय सिंह को देश द्रोही मानसिकता से बाज आना चाहिए। सिंह को अगर सबूत ही चाहिए तो उन्हें पाकिस्तान की नागरिकता ले लेनी चाहिए। ताकि जब फिर से सर्जिकल स्ट्राइक हो तो उसे वे बेहतर महसूस कर सकें। भार्गव ने कहा कि जो लोग अभिनंदन की रिहाई को लेकर इमरान खान को बधाई दे रहे हैं, उन्हें नियमों की जानकारी नहीं है। अभिनंदन को लौटाकर पाकिस्तान हम पर कोई अहसान नहीं कर रहा है। जेनेवा कन्वेंशन के नियमों के तहत पाकिस्तान को यह हर हाल में करना ही था। यह अंतरराष्ट्रीय नियम है जिससे राष्ट्र बंधे हुए हैं। दिग्विजय सिंह यह भूल रहे हैं कि भारत ने 1971 में पाकिस्तान के 90 हजार युद्धबंदी लौटाए थे। लेकिन कभी विश्व के सामने इसका ढिंढोरा नहीं पीटा।

दिग्विजय सिंह चुनाव से डर रहे : गौर 

पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता बाबूलाल गौर ने कहा कि एयर स्ट्राइक का सबसे बड़ा सबूत तीनों सेना प्रमुखों ने खुद दिया है, जब उन्होंने कहा है वहीं सबसे बड़ा सबूत है। सेना के प्रधान किसी पार्टी के नही वो सबूत दे रहे है सवाल उनसे करें। गौर ने कहा नरेंद्र मोदी ने जो कार्रवाई की है कांग्रेस ने आज तक नहीं की।  मुंबई हमले मै  82 लोग मारे गए थे कांग्रेस की सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की। दिग्विजय सिंह को अपनी बात रखने का अधिकार है पर दिग्विजय सिंह चुनाव से डर रहे हैं उनको लगता है इसका लाभ बीजेपी और नरेंद्र मोदी को मिलेगा। हर युद्ध में रूलिंग पार्टी को फायदा मिलता है| 

मोदी के विरोध में दिग्विजय अंधे हो गए : शिवराज 

दिग्विजय सिंह के बयान पर शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दिग्विजय मोदी के विरोध में अंधे हो गए है, तकलीफ इस बात की है कि दिग्विजय पाकिस्तान की भाषा बोल रहे है| ये देश के लिए कलंक है| मोदी का विरोध करते करते भारत माता का विरोध करने लगे दिग्विजय सिंह | उन्होंने कहा दिग्विजय सिंह पहले एमपी को तबाह कर चुके है, अब देश को तबाह करने की कोशिश कर रहे| उन्होंने दिग्विजय को कहा ‘रिटर्न बंटाधार’| शिवराज ने कहा उनके बयान और भाषा की निंदा करता हूँ| कांग्रेसी उस नदी की तरह जो जरा सी बारिश में उबाल मार जाती है। सेना प्रमुख पीसी कर चुके हैं, अगर हमारे सेना के सैन्य को वो स्वीकार नही कर पा रहे तो धिक्कार है| 

 पाकिस्तान की नागरिकता लेलें दिग्विजय :रामेश्वर शर्मा 

बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष और विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा दिग्विजय सिंह को भारत की नागरिकता छोड़कर पाकिस्तान की नागरिकता ग्रहण कर लेनी चाहिए| दिग्विजय सिंह प��छले 10 -15 साल से पाकिस्तान के ही  नागरिक की तरह बात कर रहे हैं। जब जब पाकिस्तान का हमला होता है दिग्विजय सिंह पाकिस्तान की तरफ से बोलते हुए नजर आते हैं । दिग्विजय सिंह को मूल रूप से भारत की नागरिकता छोड़कर पाकिस्तान की नागरिकता ग्रहण कर लेनी चाहिए । दिग्विजय सिंह और कांग्रेस 1947 से ही भारत विरोधी भूमिका में रहे हैं।

कांग्रेस का पुतला दहन करेगी भाजपा 

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि कांग्रेस के नेताओं द्वारा पाकिस्तान के आतंकी अड्डे पर हमला किए जाने के बाद से निरंतर ऐसी बयानबाजी की जा रही है जो भारत के विरूद्ध होकर पाकिस्तान को मदद करने वाली है। जिनके राज में निरंतर आतंकवाद फलता फूलता रहा। वे आज भारत की सेना के शौर्य को ललकार रहें है और हवाई हमले के सबूत मांग रहे है। देश से प्यार करने वाला कोई भी व्यक्ति ऐसा दुस्साहस नहीं कर सकता, जैसा कांग्रेस के नेता और उनके पिछलग्गू कर रहे हंै। ऐसा करके देश के सफल कूटनीतिक प्रयासों में विंध्न डालने का आपराधिक कृत्य तो किया ही है साथ साथ सेना के उत्साह को कम करने का पाप भी किया है। 

जयवर्धन उतरे बचाव में, बयान का किया समर्थन 

पूर्व सीएम दिग्विजयसिंह के बेटे और नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह अपने पिता के बचाव में उतर आये हैं| उन्होंने कहा मैंने बयान सुना है, उन्होंने कोई गलत बात नहीं की है| कितने डैमेज हुए हैं इसकी डिटेल मांगी है| देश भी ये जानकारी मांग रहा है| हम सेना के साथ खड़े हैं, कांग्रेस ने 60 दिन में इतने काम कर दिए हैं और बीजेपी के पास मुद्दे नहीं हैं, ऐसे में बीजेपी इसे मुद्दा बना रही है।