विदिशा में विरोध तेज, राजगढ़ से प्रत्याशी हो सकती हैं साधना

Resistance-in-Vidisha-sadhana-singh-may-be-candidate-from-Rajgarh-

भोपाल। विदिशा लोकसभा सीट से साधना सिंह को प्रत्याशी बनाए जाने की मांग तेज हो रही है। जिसमें शिवराज समर्थक खुलकर लॉबिंग में जुट गए हैं। प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में विदिशा से साधना सिंह का नाम नहीं आने के बाद अब साधना को प्रत्याशी बनाए जाने के लिए दिल्ली में गोटियां फिट की जा रही हैं। हालांकि साधना का जमकर विरोध हो रहा है। ऐसे में उन्हें राजगढ़ से लोकसभा प्रत्याशी भी बनाया जा सकता है। इसकी वजह यह है कि साधना सिंह किरार-धाकड़ समाज की राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, राजगढ़ लोकसभा क्षेत्र में समाज के मतदाताओं की अच्छी खासी संख्या है। 

साधना को टिकट दिलाने को लेकर शिवराज समर्थक दिल्ली में डेरा जमाए हैं। इनका प्रयास है कि विदेश मंत्री व क्षेत्रीय सांसद सुषमा स्वराज और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह का समर्थन मिल जाए तो टिकट मिलने में आसानी हो जाएगी। भाजपा केंद्रीय नेतृत्व के सूत्र बताते हैं कि सुषमा स्वराज के चुनाव लडऩे से इनकार करने के बाद विदिशा जैसी आसान सीट पर किसी वरिष्ठ नेता को मैदान में उतारा जाएगा। यह बाहरी भी हो सकता है। इसका कारण यह है कि मध्यप्रदेश की विदिशा सीट से ज्यादा आसान सीट भाजपा के पास दूसरी नहीं है। यह सीट भाजपा का गढ़ है। साधना की दावेदारी जताने का मामला पहली बार नहीं हुआ है। इसके पहले भी 2006 के उपचुनाव, 2009 और 2014 में भी शिव समर्थक साधना सिंह को टिकट दिलाने के लिए जोर लगाते रहे हैं।