MP School : मध्यप्रदेश में जल्द खुलेंगे स्कूल, शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने दिए संकेत

मंत्री परमार ने कहा कि इस संबंध में एक दो दिन में बैठक बुलाकर निर्णय लिया जाएगा।

स्कूल

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना महामारी (Corona) और लॉकडाउन (Lockdown) के चलते करीब एक साल से बंद पड़े मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के स्कूल जल्द (School) खुलने वाले है। स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार (Inder Singh Parmar) ने इस बात के संकेत दिए है। सोमवार को मप्र विधानसभा (MP Assembly) के बजट सत्र 2021 (Budget session 2021) के दौरान मीडिया(Media) से चर्चा करते हुए परमार ने बताया कि कक्षा 6 वीं से कक्षा 8वीं(Class 6th to class 8th) तक के स्कूल खोलने (School Re-open) को लेकर विचार किया जा रहा है।

यह भी पढ़े… MP School: स्कूल फीस पर शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का बड़ा बयान- कलेक्टर को मिले निर्देश

मंत्री परमार ने कहा कि इस संबंध में एक दो दिन में बैठक बुलाकर निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि कक्षा 1 से 5वीं तक के स्कूल खोलने (School Reopen) का अभी कोई निर्णय नहीं है, लेकिन 9वीं से 12वीं के छात्रों की तरह कक्षा 6वीं से 8वीं तक के छात्रों के स्कूल खोले जा सकते है।एक दो दिन में बैठक कर इस पर स्थिति साफ की जाएगी। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि कोरोना संक्रमण (Corona Virus) को ध्यान में रखते हुए अप्रैल से पहले प्रदेश(MP) की शिवराज सरकार (Shivraj Government) स्कूल खोलने को लेकर बड़ा फैसला ले सकती है।

यह भी पढ़े.. MP Board: 10वीं और 12वीं प्रैक्टिकल परीक्षा को लेकर माशिमं ने दिए महत्वपूर्ण निर्देश

इससे पहले मंत्री इन्दर सिंह परमार ने स्कूल फीस के एक सवाल के जवाब में विधानसभा में कहा था कि अभिभावकों या छात्रों द्वारा फीस (School Fees) भुगतान न करने अथवा बकाया होने के आधार पर, कक्षा 9वीं से 12वीं की परीक्षा में भाग लेने से किसी भी विद्यार्थी (Student) को वंचित नहीं किया जाएगा।

यह आदेश प्रदेश के समस्त सीबीएसई (CBSE), आईसीएसई(ICSE), मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल एवं अन्य बोर्ड (Madhya Pradesh Board of Secondary Education-MP Board) से संबद्ध गैर अनुदान प्राप्त अशासकीय विद्यालयों (Private schools) पर समान रूप से लागू होगा।पालकों की सहूलियत और विद्यार्थियों (Student) की पढ़ाई अनवरत जारी रखने के उद्देश्य से स्कूल शिक्षा विभाग(School Education Department)  ने सभी जिलो के कलेक्टर (Collector) को निर्देश जारी किए हैं।