शिवराज सरकार का बड़ा फैसला- आगामी चुनावों से पहले पूर्व मंत्री को सौंपी अध्यक्ष की जिम्मेदारी

पूर्व मंत्री

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश उपचुनाव से पहले और ओबीसी आरक्षण (OBC reservation) पर सियासत के बीच से राज्य शासन ने पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन (Former Minister Gaurishankar Bisen) को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मंत्री को  मध्यप्रदेश पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग का अध्यक्ष नियुक्त किया है।बिसेन बालाघाट से विधायक है और बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं में गिने जाते है। संभावना जताई जा रही है कि जल्द ही बिसेन को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया जा सकता है।

यह भी पढ़े.. Government Employee: केंद्र के समान 28 फीसदी DA पर अड़े कर्मचारी, हुए लामबंद, आंदोलन तेज

दरअसल, हाल ही में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) ने 15 अगस्त, 2021 को स्वतंत्रता दिवस समारोह के राज्य स्तरीय कार्यक्रम में अपने सम्बोधन में पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग के गठन की घोषणा की थी।इस मौके पर केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर लिखा है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता, बालाघाट से विधायक  गौरीशंकर बिसेन जी को पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग, मध्य प्रदेश के अध्यक्ष नियुक्त होने पर बधाई एवं उत्कृष्ट कार्यकाल के लिए शुभकामनाएं।

यह भी पढ़े.. Transfer in MP : मध्य प्रदेश में अधिकारी-कर्मचारियों के थोकबंद तबादले, यहां देखें लिस्ट

इससे पहले गुरुवार को शिवराज सरकार ने एक बड़ा फैसला करते हुए सरकारी भर्तियों और परीक्षाओं में ओबीसी आरक्षण 27 फीसदी कर दिया। इस संंबंध में सामान्य प्रशासन ने आदेश भी जारी कर दिया है, जिसमें कहा गया है कि जिन परीक्षाओं और भर्ती पर हाईकोर्ट ने रोक लगाई है, उन पर रोक ही रहेगी।