MP : किसानों को लेकर एक और बड़ा फैसला, अनुदान देगी शिवराज सरकार

भारत सिंह कुशवाह ने आगे कहा कि किसान सरकारी अनुदान पर खाद्य प्रसंस्करण यूनिट लगाकर अपने पूरे परिवार को रोजगार (Employment) से जोड़ सकते हैं। सरकार खेतों की चैन फैंसिंग के लिये भी अनुदान मुहैया कराती है।

मूंग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। किसानों (Farmers) की आय दुगुनी करने को लेकर मध्यप्रदेश सरकार (MP Government) ने एक और बड़ा फैसला लिया है। किसानों को तकनीकी कौशल (Technical Skills) मुहैया कराने के फैसले के बाद अब प्रदेश की शिवराज सरकार (Shivraj Government) ने निर्णय लिया है कि किसान खाद्य प्रसंस्करण उद्योग (Food processing industry) लगाएँ, इसके लिए अनुदान (Grant) सरकार देगी।

यह भी पढ़े… MP News- शिवराज सरकार का इन छात्रों को तोहफा, आदेश जारी

उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार भारत सिंह कुशवाह (Bharat Singh Kushwaha) ने कहा कि किसान पारंपरिक खेती के साथ-साथ फल, फूल, मसाला, सब्जियाँ एवं औषधीय वनस्पति की खेती करें। साथ ही उपज की अधिक कीमत प्राप्त करने के लिये खाद्य प्रसंस्करण उद्योग लगाएँ। इन सभी उद्यानिकी फसलों एवं खाद्य प्रसंस्करण यूनिट (Horticultural Crops and Food Processing Unit) लगाने के लिये प्रदेश सरकार 50 प्रतिशत तक अनुदान देती है। किसानों की आय तभी दोगुनी होगी जब वे पारंपरिक खेती के साथ-साथ उद्यानिकी फसलें भी प्रमुखता से अपनायेंगे।

यह भी पढ़े.. MP : किसानों को लेकर शिवराज सरकार का एक और बड़ा फैसला, रोडमैप तैयार

राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार भारत सिंह कुशवाह ने आगे कहा कि किसान सरकारी अनुदान पर खाद्य प्रसंस्करण यूनिट लगाकर अपने पूरे परिवार को रोजगार (Employment) से जोड़ सकते हैं। सरकार खेतों की चैन फैंसिंग के लिये भी अनुदान मुहैया कराती है। वही जन समस्या निवारण शिविर में मौजूद अधिकारियों से कहा कि सुशासन पर प्रदेश सरकार का विशेष जोर है।अधिकारी सरकार की सुशासन की अवधारणा को मूर्तरूप दें। सभी अधिकारी ध्यान रखें कि जनता के सभी काम बिना कठिनाई के और तेजी से हो जाएँ। यदि अधिकारियों ने ढ़िलाई बरती तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।