मध्य प्रदेश के कर्मचारियों को लेकर शिवराज सरकार का बड़ा फैसला

अगर ड्यूटी के दौरान कोई कर्मचारी कोरोना (Corona) का टीका (Vaccination) लगवाने जाता है तो वह ऑन ड्यूटी (On duity) ही माना जाएगा।

मुख्यमंत्री

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की शिवराज सरकार (Shivraj Government) ने कर्मचारियों को लेकर बड़ा फैसला लिया है। इसके तहत अगर ड्यूटी के दौरान कोई कर्मचारी कोरोना (Corona) का टीका (Vaccination) लगवाने जाता है तो वह ऑन ड्यूटी (On duity) ही माना जाएगा। हालांकि इसके लिए उसे टीकाकरण का सर्टिफिकेट लगाना होगा।इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग (health Department) ने सभी विभाग प्रमुखों को सूचना जारी कर दी है।

यह भी पढ़े… नई आबकारी नीति : बैकफूट पर शिवराज सरकार, अब जुलाई से लागू करने की तैयारी

दरअसल, मध्य प्रदेश में कोरोना टीकाकरण का अभियान जारी है।  टीकाकरण के दूसरे चरण में फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीके लगाए जा रहे हैं। लेकिन इसमें हेल्थ वर्कर्स बार-बार कहने के बाद भी टीका लगवाने नहीं जा रहे है, कोई छुट्टी का बहाना तो कोई काम का प्रेशर बता रहा है, जिसके चलते यह  व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग ने टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने के लिए की है। इसमें सभी विभागों के एचओडी को वैक्सीन शेड्यूल भेजा गया है, ताकि उस हिसाब से कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाए।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से उन विभागों के प्रमुखों को इस संबंध में सूचना दी गई है।  इनमें पुलिस (Police Department), नगरीय प्रशासन (Urban Administration Department), राजस्व विभाग (Revenue Department) और जनपद पंचायत विभाग ( Panchayat Department)के वे कर्मचारी शामिल हैं, जिन्होंने कोरोना काल में ड्यूटी की है।अब कर्मचारी बिना किसी डर के ड्यूटी के दौरान वैक्सीन लगवाने टीकाकरण केंद्र तक जा सकें, इसे ध्यान में रखते हुए यह नई व्यवस्था की गई है।

यह भी पढे… E-Tender Scam : मेंटाना कंस्ट्रक्शन कंपनी के 15 ठिकानों पर IT का छापा, करोड़ों की टैक्स चोरी

वही पुलिस विभाग के मैदानी अमले की ड्यूटी 48 घंटे पहले तय हो जाती है। ऐसे में जिन लोगों को टीका लगना है, उनकी सूची अधिकारियों को पहले ही भेज दी गई है, ताकि, उनकी ड्यूटी उसी हिसाब से लगाई जाए कि वे ड्यूटी के दौरान केंद्र तक जाकर टीका लगवा पाएं।