CM शिवराज सिंह ने केन्द्रीय मंत्री से की ये बड़ी मांग, पूरी हुई तो मिलेगा MP को लाभ

शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश को 358 करोड़ रुपये जारी करने और 1 लाख 61 हजार 710 अल्पसंख्यक विद्यार्थियों (Student) को विभिन्न छात्रवृत्तियां (Scholarships) प्रदान करने के लिए नकवी का आभार व्यक्त किया।

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने  केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) से प्रतिवर्ष मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के किसी एक शहर में हुनर हाट आयोजित करने की मांग की है।भोपाल हाट पहुंचे शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं मध्यप्रदेश के लोगों से अपील करना चाहूंगा, देशभर से लोग यहां पधारे हैं। आप उनकी कला देखने जरूर हुनर हाट में पधारिये। शताब्दियों पहले से हुनर हमारे हाथों में है।

यह भी पढ़े.. शिवराज सिंह चौहान का बड़ा ऐलान-MP में जल्द शुरु होगी यह योजना, मिलेगा रोजगार

दरअसल, आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल (Bhopal) के लाल परेड मैदान में आयोजित हुनर हाट का शुभारंभ करने पहुंचे थे।इस दौरान उन्होंने कहा कि भोपाल हुनरमंदों की कद्र जानता है। हुनर हाट में आए देश के 31 राज्यों के कारीगरों को भोपाल की जनता से भरपूर सराहना मिलेगी। यह देश की एकता, आपसी मेलजोल और कारीगरों को राष्ट्रीय स्तर पर बाजार उपलब्ध कराने का मौका भी देता है। ऐसे ही प्रयासों से कारीगारों के उत्पादों के पहचान वैश्विक स्तर पर बन सकेगी। मास्क (Mask) और पीपीई किट (PPE KIT0 की आपूर्ति में इनका योगदान महत्वपूर्ण रहा।

इस दौरान मेले में शामिल होने पहुंचे केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी  ने तंदूरी चाय (Tandoori tea)की विशेष रूप से प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि तंदूरी रोटी (Tandoori Roti) का तो सुना है पर तंदूरी चाय के बारे में पहली बार सुन रहा हूँ। मुख्यमंत्री ने समापन-सत्र के उपरांत तंदूरी चाय के स्टाल पर जाकर चाय पी। सीएम ने कहा कि हस्तशिल्प की भारत में समृद्ध परंपरा रही है। जब पश्चिम के देश कपड़ा निर्माण में आरंभिक अवस्था में थे, तब हमारे कारीगरों ने ढाका की मलमल बना कर अपने हुनर को स्थापित कर दिया था। कारीगरों ने कोरोना काल में भी समाज की बहुत मदद की है।

यह भी पढ़े.. सीएम शिवराज सिंह चौहान का मास्टर स्ट्रोक-पंचायत चुनाव से पहले की ये बड़ी घोषणा

केन्द्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री  मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हुनर हाट पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Mod) की प्रेरणा से दस्तकारों, शिल्पकारों की स्वदेशी विरासत को मौका और मार्केट उपलब्ध कराने का प्रभावी प्लेटफार्म है। यह आत्म-निर्भर भारत (Aatamnirbhar Bharat) और समावेशी विकास के संकल्प को पूरा करता है। केन्द्रीय मंत्री ने बताया कि हुनर हाट में भाग ले रहे शिल्पकारों के उत्पाद ई-पोर्टल भी उपलब्ध हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि भोपाल में आयोजित हुनर हाट कौशल के कद्रदानों का कुंभ साबित होगा।

बता दे कि केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित क्राफ्ट, कुज़ीन और कल्चर के संगम हुनर हाट में 31 राज्यों के कलाकार और हस्तशिल्पी अपने उत्पाद लेकर आएं हैं। हाट में कुल 250 स्टॉल लगाए गए, जिनमें 210 विभिन्न उत्पादों के और 40 स्टॉल खान-पान के हैं। MP के 15 शिल्पी भी हुनर हाट में भाग ले रहे हैं।इस दौरान मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश को 358 करोड़ रुपये जारी करने और 1 लाख 61 हजार 710 अल्पसंख्यक विद्यार्थियों (Student) को विभिन्न छात्रवृत्तियां (Scholarships) प्रदान करने के लिए नकवी का आभार व्यक्त किया।