कैबिनेट बैठक से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंत्रियों को नसीहत

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मंत्री अपने विभाग के निगम मंडल (Corporation Board) के कार्यों पर नजर रखें। पूरे परिश्रम से कार्यों का संचालन, संपादन हो। हमें 20-20 खेलते हुए अच्छे परिणाम देने हैं।

cabinet baithak

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आज मंत्रालय में कैबिनेट बैठक (Cabinet Meeting) होना है, जिसमें कई अहम प्रस्तावों को मंजूरी दी जाएगी, लेकिन इसके पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) का बड़ा बयान सामने आया है। मुख्यमंत्री ने सभी मंत्रियों से साफ कहा है कि सभी मंत्री अपने विभाग से जुड़े निगम मंडल की गतिविधियों को भी गति दें और मंडल के कार्यों पर नजर रखें।

यह भी पढ़े…Shivraj Cabinet – शिवराज कैबिनेट बैठक आज, इन प्रस्तावों पर लग सकती है मुहर

आज मंगलवार (Tuesday) को मंत्रालय में वीडियो कांफ्रेंस द्वारा होने वाली कैबिनेट बैठक से पहले शिवराज ने कहा कैबिनेट मंत्रियों (Cabinet Minister) से साफ कहा कि पूरे परिश्रम से कार्यों का संचालन, संपादन हो। हमारी सजगता में कमी न हो। जनकल्याण के कार्यों के लक्ष्य पूरे किए जाएं।जनता के हित में योजनाओं का समयबद्ध क्रियान्वयन किया जाए। विभाग के कार्यों पर निरंतर नजर रखें। पूरे परिश्रम से दिन-रात कार्य कर आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश (Aatmanirbhar Madhya Pradesh)का लक्ष्य पूर्ण करना है।

शिवराज ने कहा कि आज से हम किसान सम्मेलन शुरू कर रहे हैं, मैं आज उज्जैन(Ujjain) और भोपाल (Bhopal) में रहूंगा,अन्य स्थानों पर अन्य नेता जा रहे हैं ।अब एक-एक मंत्री अपने-अपने गृह जिले में प्रेस कॉन्फ्रेंस करें और किसानों के हित में जो कानून बनाए गए हैं उसका व्यापक मसौदा प्रेस और जनता के सामने रखें।आप सब जानते हैं कि हम बहुत तेज गति से काम कर रहे हैं, हमने कुछ नए इनिशिएटिव भी लिए हैं ।

मैं आपको बताना चाहूंगा कि 18 दिसंबर को जो राहत राशि कांग्रेस की सरकार ने रोक दी थी उसे हम डालने जा रहे हैं 35 लाख 50 हजार किसानों को 1600 करोड़ रुपए डालेंगे ।यह राशि का एक हिस्सा होगा दूसरा हिस्सा भी हम किसानों के खातों में देंगे 18 दिसंबर को मुख्य कार्यक्रम विदिशा में होगा जहां मैं उपस्थित रहूंगा ।अन्य जिलों के नाम भी आप सभी को दे दिए जाएंगे जहां पर मंत्री उपस्थित रहेंगे

निगम मंडल के कार्यों पर हो मंत्रियों की नजर

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मंत्री अपने विभाग के निगम मंडल (Corporation Board) के कार्यों पर नजर रखें। पूरे परिश्रम से कार्यों का संचालन, संपादन हो। हमें 20-20 खेलते हुए अच्छे परिणाम देने हैं। साफ सुथरे ढंग से कार्य संचालन हो। हमारी सजगता में कमी न हो। जनकल्याण के कार्यों के लक्ष्य पूरे किए जाएं।बता दे कि आने वाले दिनों में निगम मंडल में नियुक्तियां होना है।

4 जनवरी को होगी कलेक्टर कमिश्नर कॉन्फ्रेंस

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि इस माह हुई कलेक्टर कमिश्नर (Collector-Commissioner) कान्फ्रेंस में जनता के हित में अनेक महत्वपूर्ण निर्देश वरिष्ठ अधिकारियों को दिए गए हैं। जनकल्याण के लिए प्रशासनिक कसावट करते हुए इस मंत्र को लागू किया गया है। आगामी 4 जनवरी को पुन: ऐसी कॉन्फ्रेंस होगी। इसमें विभाग विशेष की चर्चा के दौरान संबंधित मंत्री भी उपस्थित रहेंगे। मंत्री विभागीय चर्चा के बिंदुओं के संदर्भ में कार्यवाही भी सुनिश्चित करें।

कृषि बिलों पर फोकस

शिवराज ने आगे मंत्रियों से कहा कि वे अपने भ्रमण, जनता से संवाद, बैठको और कार्यक्रमों में नये कृषि कानूनों के फायदों के बारे में चर्चा करें। किसानों के साथ ही सभी वर्गों को देश की आर्थिक प्रगति की दिशा नये कृषि कानूनों के माध्यम से उठाए गए महत्वपूर्ण कदम की जानकारी दी जाए।

किसानों को देंगे राहत राशि

मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि आगामी 18 दिसम्बर को पूरे राज्य में किसानों को राहत राशि उनके खातों में अंतरित की जाएगी। इसमें पूर्व की बकाया राशि के अलावा इस वर्ष सोयाबीन फसलों (Soybean Crops) के नुकसान और अन्य फसल क्षति की राहत राशि भी शामिल रहेगी। प्रदेश के 35 लाख 50 हजार किसानों के खातों में 1600 करोड़ रुपये जमा की किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि वे स्वयं विदिशा (Vidisha) में राशि अंतरित करेंगे। शेष जिलों में मंत्रीगण इन कार्यक्रमों में शामिल होंगे। मंत्रियों के जिलों में जाने के लिए मुख्यमंत्री कार्यालय (Chief Minister’s Office) और कृषि मंत्री समन्वय कर निर्णय ले रहे हैं। इस कार्यक्रम ने स्थानीय विधायक (MLA) और सांसद भी शामिल होकर अपनी बात कहेंगे।

जारी रहे माफिया के विरुद्ध कार्रवाई

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में सभी तरह के माफिया (Mafia) के विरुद्ध सख्त कार्रवाई का अभियान जारी रहेगा। मंत्रीगण भी नेतृत्व करते हुए आम जनता के हित में इस अभियान को मजबूती प्रदान करें। विकास के साथ ही माफिया पर नियंत्रण का कार्य भागीरथी प्रयत्न माना जाए, इस दिशा में मंत्री सक्रिय भूमिका का निर्वह करते रहें।

होशंगाबाद का उदाहरण आदर्श

वही मुख्यमंत्री चौहान ने होशंगाबाद जिले (Hoshangabad district) में किसानों (Farmers) को धान का उच्चतम मूल्य दिलवाने के लिए नए किसान (सशक्तिकरण और संरक्षण) अनुबंध मूल्य आश्वासन और सेवा अधिनियम 2020 में की गई कार्यवाही को आदर्श बताते हुए अन्य जिलों में भी किसान हित में ऐसे कदम उठाने की अपेक्षा की। किसानों की आर्थिक दशा सुधारने के लिए बने इन कानूनों (Farm Bill 2020) के प्रावधानों का विवरण भी जनता तक पहुंचाया जाए। इसके लिए मंत्री नेतृत्व करते हुए इस कार्य को पूर्ण करें।