SDM को पीटने वाले पुलिस के फरार आरोपी पूर्व विधायक कैबिनेट मंत्री संग घूमते रहे, पुलिस बनी रही मूकदर्शक

पूर्व विधायक केके श्रीवास्तव पर टीकमगढ़ एसडीएम को पीटने का आरोप है। इसलिए इनके विरुद्ध कोतवाली में एफआईआर दर्ज भी है और यह पुलिस के फरार आरोपी हैं।

टीकमगढ़, आमिर खान। एमपी (MP) के कैबिनेट मंत्री व टीकमगढ़ के प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग (Vishwas Sarang) सोमवार को टीकमगढ़ (Tikamgarh) दौरे पर आए। इस दौरान वह अपने साथ पूर्व विधायक केके श्रीवास्तव (Former MLA KK Srivastava) को लेकर दिन भर कार्यक्रम आयोजित करते रहे। जबकि पूर्व विधायक केके श्रीवास्तव कोतवाली पुलिस के अभी फरार आरोपी हैं। पूर्व विधायक केके श्रीवास्तव पर टीकमगढ़ एसडीएम (SDM) को पीटने का आरोप है। इसलिए इनके विरुद्ध कोतवाली में एफआईआर दर्ज भी है और यह पुलिस के फरार आरोपी हैं। अब यहां यह गंभीर सवाल है कि जब वह पुलिस के फरार आरोपी हैं, तो पुलिस इन्हें गिरफ्तार क्यों नहीं कर रही और आज दिन भर वह मंत्री विश्वास सारंग के साथ घूमते दिखाई दिए। इसके बाद भी टीकमगढ़ पुलिस मूकदर्शक बनी रही।

यह भी पढ़ें…धूमेश्वर पर सिंध नदी में डूबे दोनों दोस्तों के शव बरामद, दोस्तों के साथ गए थे पिकनिक मनाने

प्रभारी मंत्री के आगमन को लेकर टीकमगढ़ एसडीएम सौरभ मिश्रा के साथ मारपीट करने के साथ ही शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने के मामले में फरार आरोपित पूर्व विधायक केके श्रीवास्तव भी नजर आए। जबकि सिटी कोतवाली में पूर्व विधायक के विरूद्ध विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। 22 अप्रैल 2021 की रात टीकमगढ़ एसडीएम सौरभ मिश्रा ने सिटी कोतवाली पहुंचकर एक शिकायत दर्ज कराई थी। भाजपा के पूर्व विधायक केके श्रीवास्तव पर टीकमगढ़ एसडीएम ने घर में घुसकर धमकाने का आरोप लगाया था। इस शिकायत के बाद केके श्रीवास्तव के खिलाफ कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराई थी। कोतवाली पुलिस ने एसडीएम सौरभ मिश्रा की शिकायत के बाद पूर्व विधायक केके श्रीवास्तव और एक अन्य साथी के विरूद्ध धारा 186, 269, 270, 294, 353, 452, 506, 34 आईपीसी 51 के तहत मामला पंजीबद्ध किया था। पूर्व विधायक को मामले में पुलिस अभी भी फरार बता रही है, जबकि वह प्रभारी मंत्री के साथ पूरे समय पुलिस अभिरक्षा में शामिल रहे। यह मामला पूरे दिन चर्चा का विषय बना रहा है।

SDM को पीटने वाले पुलिस के फरार आरोपी पूर्व विधायक कैबिनेट मंत्री संग घूमते रहे, पुलिस बनी रही मूकदर्शक

मामले में विवेचना अधिकारी उपनिरीक्षक शैलेंद्र कुशवाहा ने बताया कि केके श्रीवास्तव को नोटिस भेजे गए हैं। वह अभी भी मामले में फरार बने हुए हैं। मैं एक बार फिर नोटिस भेजता हूं। अभी तक जमानत होने जैसा कोई मामला सामने नहीं आया है। अभी उनकी जमानत नहीं हुुई है। टीकमगढ़ एएसपी एमएल चौरसिया का कहना है कि मुझे इस मामले की जानकारी नहीं है, कोतवाली पुलिस ही बता पाएगी, शायद गिरफ्तारी नहीं हुई है। अगर वह फरार हैं तो जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। कानून सबके लिए बराबर है।

यह भी पढ़ें…Chhindwara: मजदूरों से 12 सूत्रीय मांगों को लेकर कांग्रेस ने राज्यपाल के नाम तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन