VIDEO: नंदकुमार सिंह चौहान के निधन के बाद शिवराज सिंह चौहान की बड़ी घोषणा

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अपने लाडले नेता को खोने का दर्द मैंने आज शाहपुर के एक-एक नागरिक की आँखों में देखा है।

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। वरिष्ठ बीजेपी नेता (Senior BJP Leader) और खंडवा-बुरहानपुर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद रहे नंदकुमार सिंह चौहान (Nandkumar Singh Chauhan)  के निधन के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने बड़ी घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्धेय नंदूभैया की इच्छा थी कि खंडवा में मेडिकल कॉलेज (Medical college) बने। हमने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए तय किया है कि खंडवा मेडिकल कॉलेज का नाम अब से स्व. नंदकुमार सिंह चौहान मेडिकल कॉलेज होगा। बुरहानपुर जिला चिकित्सालय (Burhanpur District Hospital) और नगर पालिका भवन शाहपुर (Nagar Palika Bhawan Shahpur) का नामकरण भी स्व. नंदकुमार सिंह जी के नाम पर किया जाएगा।

यह भी पढ़े.. MP Budget 2021: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का बड़ा बयान, किसानों-छात्रों को ऐसे मिलेगा लाभ

नंदकुमार सिंह चौहान को अंतिम विदाई देने बुरहानपुर (Burhanpur) के शाहपुर (Shahpur) पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि श्रद्धेय नंदूभैया की इच्छा थी कि खंडवा (Khandwa) में मेडिकल कॉलेज बने। यहाँ के नागरिकों को उपचार के लिए अन्य जगह न जाना पड़े। इसके लिए उन्होंने अथक प्रयास भी किये।  स्व. नन्दू भैया की भावनाओं और उनके प्रयासों का सम्मान करते हुए हमने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए तय किया है कि खंडवा मेडिकल कॉलेज का नाम अब से स्व. नंदकुमार सिंह चौहान मेडिकल कॉलेज (Nandkumar Singh Chauhan Medical College)  होगा।  बुरहानपुर जिला चिकित्सालय और नगर पालिका भवन शाहपुर का नामकरण भी स्व. नंदकुमार सिंह जी के नाम पर किया जाएगा।

सीएम ने कहा कि अपने लाडले नेता को खोने का दर्द मैंने आज शाहपुर के एक-एक नागरिक की आँखों में देखा है। नंदूभैया ने अपना सम्पूर्ण जीवन जनता की सेवा और क्षेत्र के विकास में न्योछावर कर दिया।ईश्वर उनकी आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें, मैं यही प्रार्थना करता हूँ। नंदूभैया के जाने के बाद निमाड़ सूना-सूना लगता है। शाहपुर सूना है, बुरहानपुर सूना है, खंडवा सूना है। नंदूभैया के बिना रेवा तट भी सूने हैं। मुझे भरोसा नहीं होता कि आप हमें छोड़कर चले गए। ऐसा लगता है कि आप फिर मुस्कुराते हुए आएंगे।

यह भी पढ़े.. MP News: CPCT परीक्षाओं को लेकर मंत्री इंदर सिंह परमार का बड़ा फैसला, निर्देश जारी

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि ‘एक जिला-एक उत्पाद’ के अंतर्गत बुरहानपुर जिले में विपुल केला उत्पादन को ध्यान में रखकर इसके निर्यात की योजना बनाई गई है। स्व. नंदकुमार सिंह भी इसके लिए प्रयासरत थे। इसके साथ ही यहाँ 100 एकड़ क्षेत्र में गन्ना अनुसंधान केंद्र का नामकरण भी स्व नंदकुमार सिंह जी के नाम पर होगा। स्व. नंदकुमार सिंह जी शाहपुर नगरीय निकाय में पदाधिकारी थे। इस नाते यहाँ उनकी प्रतिमा की स्थापना की जाएगी। इसके अलावा नगर पालिका भवन का नाम भी उनके नाम पर किया जाएगा। सिर्फ शब्दों से श्रद्धांजलि न देकर प्रयास यह किया जाएगा कि उनके अधूरे सपनों को साकार किया जाए। निमाड़ अंचल के विकास के लिए किए गए उनके प्रयासों को जारी रखा जाएगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि स्व. नंदकुमार सिंह जी सभी का दिल जीत लेते थे। बड़े शौक से सुन रहा था जमाना, तुम ही सो गए दास्तां कहते कहते .. मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि भोपाल से नई दिल्ली उपचार के लिए रवाना होने पर नंदकुमार सिंह जी के बेहतर से बेहतर उपचार के प्रत्येक स्तर पर प्रयास किए गए। भारत के बाहर भी उपचार के संबंध में विमर्श हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) , केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा और अन्य अनेक राष्ट्रीय स्तर के नेताओं ने स्व. नंदू भैया के स्वास्थ्य के संबंध में चिंता की। उनके स्वास्थ्य का नियमित हालचाल भी प्राप्त किया, लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था।

यह भी पढ़े.. Sex Racket: स्पा की आड़ में चल रहे सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, आपत्तिजनक सामान के साथ कई अरेस्ट

दरअसल, मंगलवार को नंद कुमार सिंह का निधन हो गया था। बीते दिनों उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) आई थी, जिसके बाद उनका इलाज दिल्ली (Delhi) के मेदांता अस्पताल (Medanta Hospital) में चल रहा था, जहां उन्होंने 2 मार्च अंतिम सांस ली। मंगलवार देर शाम उनका पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए भोपाल (Bhopal) के बीजेपी कार्यालय  (BJP Office) में रखा गया था।इसके बाद आज बुधवार सुबह बुरहानपुर के शाहपुर में अंतिम यात्रा के निकाली गई और दोपहर में बेटे हर्षवर्धन सिंह चौहान ने उन्हें मुखाग्नि देकर अंतिम विदाई दी।

इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia), बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, जबलपुर सांसद राकेश सिंह, मंत्री उषा ठाकुर, केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल, कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव सहित अन्य कई बड़े नेता पहुंचे थे।नंदूभैया को याद कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कई बार भावुक होते हुए भी नजर आए तो सिंधिया समर्थक तुलसी सिलावट और राकेश सिंह ने उन्हें संभाला।

 

शिवराज सिंहचौहान