कृषि मंत्री की चेतावनी- हड़ताली कर्मचारियों के होगी खिलाफ कड़ी कार्रवाई

खरीफ फसल

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सहकारिता विभाग के आउटसोर्स कर्मचारियों की हड़ताल से किसानों के पंजीयन का काम प्रभावित हो रहा है। कृषि मंत्री कमल पटेल (kamal patel) ने उनसे काम पर लौट आने के लिए कहा है। उन्होने कर्मचारी काम पर नहीं आएंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है।

सहकारिता विभाग संबंधित संस्थाओं के प्रबंधक, सहायक और कंप्यूटर ऑपरेटर के पदों पर तैनात आउटसोर्स कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं। इससे गेंहू, चना और अन्य फसलों की खरीद के लिए किसानों का पंजीयन नहीं हो पा रहा है। प्रमुख सचिव सहकारिता के आश्वासन के बाद भी कर्मचारी हड़ताल पर हैं। नर्मदा परिक्रमा कर रहे कृषि मंत्री कमल पटेल ने होशंगाबाद में मीडिया से चर्चा में कहा कि यह आउटसोर्स कर्मचारी हैं, यदि यह जल्दी काम पर नहीं लौटे तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। कृषि मंत्री कमल पटेल अवैध रेत खनन को लेकर भी कड़ी कार्रवाई करने का संकल्प दोहराते हुए कहा कि नर्मदा की रक्षा सरकार और समाज की संयुक्त जवाबदारी है।

कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि जिन क्षेत्रों में सिंचाई का पानी नहीं पहुंच पा रहा है वहां सिंचाई के साधन होने तक किसानों से सिंचाई कर नहीं लिया जाएगा। कृषि मंत्री कमल पटेल ने मीडिया से चर्चा में किसानों के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी देते हुए कहा कि आजादी के बाद पहली बार किसानों की आर्थिक दशा सुधारने की प्रभावी पहल की गई है।