Health Tips : मेनोपॉज की परेशानियों को कम करने के लिए अपनाएं ये तरीके, ऐसे रखें अपना ख्याल

40 साल की उम्र के बाद महिलाओं के शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं जिसका सीधा संबंध मेनोपॉज (Menopause) से जुड़ा है। मेनोपॉज के दौरान होने वाली तकलीफ को कम करने के लिए महिलाएं अपनी लाइफस्टाइल में इस तरह से बदलाव कर सकती हैं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। महिलाओं के जीवन में एक अहम पड़ाव है 40 से 50 वर्ष की उम्र जब उनमें मीनोपॉज (Menopause) होता है। दरअसल यह महिला के जीवन का एक ऐसा समय है, जो मासिक धर्म चक्र का अंतिम चरण होता है। यदि आपके मासिक धर्म रुक गए हैं और 12 महीने तक नहीं हुए है, तो आपने मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) चरण में प्रवेश कर लिया है। सबसे अधिक बार, यह तब होता है जब एक महिला 45 से 50 वर्ष के बीच होती है, लेकिन हर महिला का मेनोपॉज पीरियड अलग है, और इसके लक्षण भी अलग होते हैं।

ये भी पढ़ें- दो महीने से बिजली गायब, ग्रामीणों ने घेरा ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का बंगला

मेनोपॉज एक नेचुरल प्रोसेस है जिसमें महिला में मानसिक, हॉर्मोनल और शरीर में बदलाव होने लगते हैं। महिलाओं को मेनोपॉज की स्थिति में तनाव, अनिद्रा, बेचैनी, चिड़-चिड़ापन, भ्रम, गुस्सा आना, जननांग में समस्याएं आना जैसी तमाम तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है जिससे उनकी दिनचर्या प्रभावित होती है। इसके कारण शरीर में एस्ट्रोजन हॉर्मोन की मात्रा कम हो जाती है। ऐसे में शक्कर खाने से परहेज़ करना चाहिए। इसी के साथ समय-समय पर बीपी, थायरॉइड, डायबिटीज़, और अन्य जरूरी चैक-अप कराना चाहिए। इसी के साथ आइए जानते हैं मेनोपॉज के दौरान होने वाली तकलीफ को कम करने के लिए लाइफस्टाइल में क्या बदलाव करने चाहिए।

डाइट पर रखें खास ध्यान

इस दौरान महिलाएं अपने खान-पान का अच्छे से ध्यान रखें। बैलेंस डाइट आपके शरीर में होने वाले बदलावों को स्पोर्ट करेंगे। इसके लिये डाइट में ड्राई फ्रूट्स, मौसमी फल-सब्जियां, और न्यूट्रीशन सहित चीजों को शामिल करें। इस समय में किसी तरह की डाइटिंग, इंटरमिटेंट फास्टिंग करने से बचना चाहिए। सही और पौष्टिक आहार आपके मूड को बेहतर बनाने के साथ- साथ वजन घटाने में भी मदद करता है।

एक्सरसाइज करें

व्यायाम करने से शरीर में मजूबती, स्टैमिना और फ्लेक्सबिलिटी बढ़ती है। इसके साथ योगा और कार्डियो एक्सरसाइज को हफ्ते में दो दिन करना चाहिए।

भरपूर नींद लें

दिन के समय में 20 मिनट की नींद लेना चाहिए और रात को 7 से 8 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए। पर्याप्त मात्रा में आराम करना शरीर के लिए बहुत जरूरी है। मेनोपॉज में किसी तरह की डाइटिंग या हैवी एक्सरसाइज करने से बचना चाहिए।

खुद को रखें हाईड्रेटेड

सिर्फ मीनोपॉज की महिलाओं को ही नहीं बल्कि हम सभी को हाईड्रेटेड रहना चाहिए। ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं और खुद को डिहाइड्रेशन से बचाएं।