Most Expensive Coffee: ये है दुनिया की सबसे महंगी कॉफी, बनाने की प्रोसेस जानने के बाद फ्री में पीने से भी कर देंगे इनकार

Most Expensive Coffee

Most Expensive Coffee Of World: कॉफी एक ऐसी चीज है जो हर व्यक्ति को पसंद होती है। अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में सभी लोग इसका सेवन करते हैं और कई बार हम कॉफी मीटिंग या डेट पर भी जाते ही हैं। एस्प्रेसो, अमेरिकानो, कैपुचिनो, लाते, मोचा सभी वैरायटी की कॉफी हमें हर जगह पीने को मिल जाती है जिसे खासतौर पर तैयार किया जाता है। हर कोई अपनी पसंद के हिसाब से कॉफी का चुनाव करता है। अब तो कॉफी हॉट और कोल्ड भी हो गई है जो लोगों की अलग-अलग पसंद है।

यह तो कॉफी के वह प्रकार हैं जो हमें अलग-अलग रूपों में तैयार करके दिए जाते हैं। लेकिन इसके अलावा कॉफी कई प्रकार की होती है और आज हम आपको जिस कॉफी के बारे में बताने जा रहे हैं वह दुनिया की सबसे महंगी कॉफी है। यह कॉफी कहां बनाई जाती है कैसे बनती है और इसकी कीमत क्या है इन सभी चीजों के बारे में हम आपको जानकारी देते हैं।

ये है Most Expensive Coffee

दुनिया की सबसे महंगी कॉफी सिवेट है जो कोपी लुवाक के नाम से जानी जाती है। यह बहुत ही फेमस है और काफी महंगी भी है लेकिन जब आप इसे बनाने की प्रोसेस के बारे में सुनेंगे तो शायद आपका दिमाग थोड़ा घूम सकता है।

Most Expensive Coffee

पहले तो ये भारत में नहीं मिलती थी लेकिन अब इसे कर्नाटक के कुर्ग जिले में बनाया जाने लगा है। एशिया में भारत कॉफी का सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक देश बन चुका है।

ऐसे बनती है सिवेट कॉफी

सिवेट एक ऐसी कॉफी है जिसे चखने के बाद आपके मुंह से वाह के सिवाय कुछ नहीं निकलेगा। लेकिन जब आप इसे बनाने की विधि के बारे में जानेंगे तो शायद फ्री में पीने से भी इनकार कर दें।

जानकारी के मुताबिक यह कॉफी सिवेट नामक पशु के मल से तैयार की जाती है जो बिल्ली की ही एक प्रजाति है। इस जानवर की पूंछ बंदर की तरह लंबी होती है और इको सिस्टम को बेहतर बनाए रखने में इनका महत्वपूर्ण योगदान माना जाता है।

Most Expensive Coffee

जानकारी के मुताबिक यह बिल्लियां कॉफी की चेरी खा लेती हैं जब वह अधपकी अवस्था में रहती है। ऐसे में गूदा तो यह पचा लेती है लेकिन गुठली इनके मल के द्वारा वैसी की वैसी बाहर निकल जाती है।

सिवेट के मल से बाहर निकलने के बाद कॉफी के बीन्स को शुद्ध करने का काम शुरू किया जाता है और जर्म्स से मुक्त करने के बाद इसे बनाने की प्रक्रिया शुरू होती है। इन बीन्स को धोकर भूना जाता है और फिर कॉफी तैयार होती है।

इसलिए महंगी है Civet Coffee

सिवेट बिल्ली के खाने के बाद कॉफी के यह बीन्स जब उसके पेट के अंदर मौजूद आंतों से गुजरते हैं तो कई सारे पाचक एंजाइम्स मिलकर इसे स्वाद में बेहतरीन और कई गुणों से भरपूर बना देते हैं। जिसकी वजह से ये काफी लजीज हो जाती है।

 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Civet Coffee (@civetcoffee_malioboro)

कीमत उड़ा देगी होश

सिवेट या लुवार्क कॉफी को अरब की खाड़ी देशों और यूरोप में रहने वाले हाई क्लास परिवार बहुत पसंद करते हैं। विदेशों में इस कॉफी की कीमत 20 से 25000 हजार प्रति किलोग्राम है।

महंगी होने के बावजूद भी हाई क्लास सोसाइटी बड़े पैमाने पर इसका उपयोग करती हैं और इसे बनाने में लगने वाली मेहनत की वजह से ही यह मार्केट में इतने ज्यादा दाम में मिलती है।

कर्नाटक में शुरू हुआ उत्पादन

कर्नाटक भारत का सबसे बड़ा कॉफी उत्पादक राज्य है और यहां के कुर्ग में इस कॉफी को बनाने का काम शुरू किया गया है। ये उत्पादन फिलहाल छोटे पैमाने पर शुरू किया गया है शुरुआती तौर पर साल 2015-16 में 20 किलोग्राम से इसे शुरू किया गया था जो 200 किलोग्राम तक पहुंच चुका है। उत्पादन बढ़ता देख कई कंपनियां देश में इसके आउटलेट खोलने की तैयारी कर रही हैं।


About Author
Diksha Bhanupriy

Diksha Bhanupriy

"पत्रकारिता का मुख्य काम है, लोकहित की महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना और उस जानकारी को संदर्भ के साथ इस तरह रखना कि हम उसका इस्तेमाल मनुष्य की स्थिति सुधारने में कर सकें।” इसी उद्देश्य के साथ मैं पिछले 10 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रही हूं। मुझे डिजिटल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कॉन्टेंट राइटिंग करना जानती हूं। मेरे पसंदीदा विषय दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली समेत अन्य विषयों से संबंधित है।

Other Latest News