Insomnia: 6 घंटे से कम सोना होता है बेहद डेंजर, हो सकता है मेमोरी लॉस, जानें इससे होने वाले नुकसान

Insomnia: 6 घंटे से कम सोना आपके स्वास्थ्य के लिए कई खतरों को जन्म दे सकता है। पर्याप्त नींद लेना आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। यदि आपको नींद की समस्या है, तो डॉक्टर से सलाह लें।

sleep

Insomnia: नींद हर इंसान के लिए बहुत जरूरी होती है। शरीर को तंदुरुस्त रखने के लिए 7 से 8 घंटे की नींद बहुत जरूरी होती है। कुछ लोगों को आराम से नींद आ जाती है और कुछ लोगों को नींद की काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में, कई लोग कम नींद की समस्या से जूझ रहे हैं। काम का बोझ, तनाव, और देर रात तक काम करना, इन सबके कारण लोगों को पर्याप्त नींद नहीं मिल पाती है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि 6 घंटे से कम सोना आपके स्वास्थ्य के लिए कितना खतरनाक हो सकता है? यदि आप भी 5 घंटे से कम सोते हैं तो आज हम आपको इस लेख के द्वारा बताएंगे कि सिर्फ 5 घंटे की नींद शरीर के लिए कितनी ज्यादा नुकसानदायक साबित हो सकती है, तो चलिए जान लेते हैं कि कम नींद लेने से शरीर को क्या-क्या नुकसान पहुंचाते हैं।

6 घंटे से कम सोने के क्या-क्या नुकसान होते हैं

याददाश्त हो सकती है कमजोर

5 घंटे से कम नींद लेने से हमारे दिमाग पर नकारात्मक असर पड़ता है, खासकर याददाश्त पर। जब हम सोते हैं, तो हमारा मस्तिष्क दिन भर में सीखी गई जानकारी को प्रोसेस्ड और स्टोर करता है। इस प्रक्रिया को “यादों का समेकन” कहा जाता है। नींद के दौरान, हमारे मस्तिष्क में धीमी तरंगें होती हैं, जो यादों को मजबूत बनाने में मदद करती हैं। पर्याप्त नींद न लेने से मस्तिष्क में नई यादों के लिए जगह बनने में बाधा आ सकती है। कम नींद से तत्काल जानकारी को याद रखने और कार्यों को पूरा करने में कठिनाई हो सकती है। गंभीर नींद की कमी से नई यादों को याद रखने में भी मुश्किल हो सकती है। कम नींद से एकाग्रता और ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई हो सकती है, जिससे जानकारी को याद रखना और सीखना मुश्किल हो जाता है।

Continue Reading

About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग रंग होता है, यह इतना चमकदार रंग होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा की कलम में बहुत ताकत होती है, इस कलम की ताकत को बरकरार रखने के लिए हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन से बीए स्नातक किया। मैं अब आगे इसी विषय में DAVV यूनिवर्सिटी से स्नाकोत्तर कर रही हूं। मेरा पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू ही हुआ है। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग, वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली, धर्म इन विषयों पर लिखना अच्छा लगता है।