Mulethi Face Pack: झाईयों और कालेपन को कहें अलविदा, पाएं निखरा हुआ चेहरा

Mulethi Facepack: मुलेठी, जिसे यष्टिमधु भी कहा जाता है, एक प्राकृतिक जड़ी-बूटी है जो त्वचा के लिए अनेक लाभकारी गुणों से भरपूर है। यह झाईयों और कालेपन को दूर करने में मददगार है।

facepack

Mulethi Face Pack: त्वचा की देखभाल के लिए प्राकृतिक नुस्खे सदियों से इस्तेमाल होते रहे हैं। इन नुस्खों में इस्तेमाल होने वाली सामग्री आसानी से उपलब्ध होती है और इनके कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होते। मुलेठी फेसपैक भी ऐसा ही एक प्राकृतिक नुस्खा है जो त्वचा को निखारने और उसमें चमक लाने में मददगार है। मुलेठी, जिसे यष्टिमधु भी कहा जाता है, में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। यह त्वचा को हाइड्रेटेड रखता है, मुंहासों से बचाता है और झाईयों और कालेपन को कम करने में भी मदद करता है।

ये कुछ मुलेठी फेसपैक जो आपके चेहरे को निखारने में मदद कर सकते हैं

1. मुलेठी और चंदन का फेसपैक

1 चम्मच मुलेठी पाउडर, 1 चम्मच चंदन पाउडर, 1/2 चम्मच गुलाब जल, थोड़ा सा दूध सभी सामग्री को अच्छी तरह मिलाकर एक मिश्रण बना लें। इसे अपने चेहरे पर लगाएं और 15-20 मिनट के लिए सूखने दें।

2. मुलेठी और नींबू का फेसपैक

1 चम्मच मुलेठी पाउडर, 1/2 चम्मच नींबू का रस, 1/2 चम्मच दही सभी सामग्री को अच्छी तरह मिलाकर एक मिश्रण बना लें। इसे अपने चेहरे पर लगाएं और 10-15 मिनट के लिए सूखने दें।

3. मुलेठी और हल्दी का फेसपैक

1 चम्मच मुलेठी पाउडर, 1/2 चम्मच हल्दी पाउडर, 1/2 चम्मच शहद, 1/2 चम्मच दूध सभी सामग्री को अच्छी तरह मिलाकर एक मिश्रण बना लें। इसे अपने चेहरे पर लगाएं और 15-20 मिनट के लिए सूखने दें।

इन फेसपैक का उपयोग करने के कुछ टिप्स

फेसपैक लगाने से पहले अपने चेहरे को अच्छी तरह धो लें। फेसपैक को अपनी त्वचा पर हल्के हाथों से लगाएं। फेसपैक को अपनी आंखों और मुंह के आसपास के क्षेत्र से दूर रखें। फेसपैक को लगाने के बाद अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो लें। सप्ताह में दो बार इन फेसपैक का उपयोग करें।

मुलेठी फेसपैक का उपयोग करने के कुछ लाभ

झाईयों और कालेपन को कम करने में मदद करता है। त्वचा को हल्का और चमकदार बनाता है। त्वचा को पोषण देता है। त्वचा को मुंहासों से बचाता है त्वचा को ठंडक देता है।

डिस्क्लेमर – इस लेख में दी गई सूचनाएं सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। एमपी ब्रेकिंग इनकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह लें।


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं।मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।