Rajasthan Travel: बारिश में खिल उठता है राजस्थान, जरूर घूमें ये ऐतिहासिक स्थल

Rajasthan Travel: राजस्थान देश का एक प्रमुख शहर होने के साथ-साथ एक लोकप्रिय और विश्व प्रसिद्ध पर्यटक केंद्र भी है। यह खूबसूरत राज्य हर साल लाखों देशी और विदेशी पर्यटकों की मेहमान नवाजी करता है। राजस्थान के उदयपुर, जोधपुर, जैसलमेर और जयपुर में हर दिन हजारों देशी और विदेशी पर्यटक घूमने और शाही मेहमान नवाजी का लुत्फ उठाने के लिए परिवार, दोस्त या पार्टनर के साथ पहुंचते रहते हैं।

भावना चौबे
Published on -
rajsthan

Rajasthan Travel: राजस्थान, भारत के पश्चिमी भाग में स्थित एक राज्य है, जो अपनी समृद्ध संस्कृति, जीवंत त्योहारों और भव्य किलों के लिए जाना जाता है। यह राज्य अपने रेगिस्तानी परिदृश्य, रंगीन बाजारों और स्वादिष्ट व्यंजनों के लिए भी प्रसिद्ध है। मानसून के मौसम में, राजस्थान एक अलग ही रूप में दिखाई देता है। बारिश से धुली हुई धरती, हरियाली से ढकी हुई पहाड़ियां और झीलों का मनोरम दृश्य देखने लायक होता है।

राजस्थान, भारत का वह रत्न है जो अपने सुनहरे इतिहास, भव्य वास्तुकला, जीवंत संस्कृति और मनमोहक प्राकृतिक सुंदरता से हर किसी को मंत्रमुग्ध कर देता है। “वीरों की भूमि” और “गुलाबी नगरी” के नाम से प्रसिद्ध, यह राज्य सदियों से राजपूत राजाओं के शासनकाल को समेटे हुए खड़ा है। राजसी महल, विशाल किले, रंगीन बाजार और मरुस्थल अपने आकर्षण से पर्यटकों को अपनी ओर खींचते हैं।

मानसून के बाद की हरियाली से लहराते खेत हों या थार रेगिस्तान के सुनहरे टीले, राजस्थान की धरती हर मौसम में एक अलग ही रूप दिखाती है। यहां आने पर ऐसा लगता है मानो इतिहास के पन्ने जिंदा हो गए हों। राजसी वेशभूषाधारी लोग, पारंपरिक लोक नृत्यों की धुन, और हस्तशिल्प की रंगीन कलाकृतियां राजस्थान की जीवंत संस्कृति की झलकियां दिखाती हैं, तो आइए राजस्थान की रंगीन गलियों में खो जाएं और इस खूबसूरत राज्य के जादू का अनुभव करें।

जयपुर

गुलाबी शहर का नया रूप: राजस्थान की राजधानी जयपुर, जिसे “गुलाबी शहर” के नाम से जाना जाता है, मानसून में एक अलग ही रंग में नज़र आता है। बारिश से धुली गुलाबी इमारतें मानो और भी ज्यादा निखर जाती हैं। हवा महल से झील का नज़ारा और भी मनमोहक हो जाता है।

जोधपुर

“ब्लू सिटी” के नाम से मशहूर जोधपुर, अपने विशाल मेहरानगढ़ किले के लिए जाना जाता है। मानसून के बादलों के बीच से झांकता हुआ ये किला मानो आकाश छूने को आतुर हो। किले से नीचे देखने पर पूरा शहर मानो हरे रंग के समुद्र में तैरता हुआ दिखाई देता है।

उदयपुर

“झीलों का शहर” उदयपुर, मानसून में अपनी असली खूबसूरती बिखेरता है। झीलों का जलस्तर ऊंचा हो जाता है, जिससे लगता है मानो महल पानी में तैर रहे हैं। पिछोला झील पर लेक पैलेस का नज़ारा मानसून की शाम को और भी ज्यादा मनोरम हो जाता है।

जैसलमेर

जैसलमेर, थार रेगिस्तान के बीच स्थित एक सुनहरा शहर है। यहां मानसून के दौरान रेत के टीलों पर हल्की हरियाली नज़र आती है, जो रेगिस्तान के सुनहरे रंग के साथ मिलकर एक अनोखा नज़ारा बनाती है। जैसलमेर किले से सूर्यास्त का नज़ारा मानसून के बादलों के साथ और भी ज्यादा मनमोहक हो जाता है।

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान

वैसे तो रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान बाघों को देखने के लिए जाना जाता है, लेकिन मानसून के दौरान ये पार्क और भी ज्यादा हसीन हो जाता है। पेड़-पौधे हरे भरे हो जाते हैं, झरने बहने लगते हैं, और पूरा वातावरण प्राकृतिक सौंदर्य से भर जाता है।

(Disclaimer- यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं के आधार पर बताई गई है। MP Breaking News इसकी पुष्टि नहीं करता।)


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News