गुजरात के एक व्यक्ति में पाया गया दुर्लभ ब्लड ग्रुप, दुनिया में अब तक सिर्फ 10 ही में मौजूद

आजतक आपने सिर्फ कुछ ही ब्लड ग्रुप के नाम सुने होंगे जैसे A, B, O और AB लेकिन अभी हाल ही में एक दुर्लभ ब्लड ग्रुप देश में देखने को मिला है। दुर्लभ ब्लड ग्रुप का नाम ईएमएम निगेटिव (EMM Negative) बताया जा रहा है।

blood group

आजतक आपने सिर्फ कुछ ही ब्लड ग्रुप के नाम सुने होंगे जैसे A, B, O और AB लेकिन अभी हाल ही में एक दुर्लभ ब्लड ग्रुप देश में देखने को मिला है। बताया जा रहा है जो दुर्लभ ब्लड ग्रुप पाया गया है उसका नाम ईएमएम निगेटिव (EMM Negative) बताया जा रहा है। इस ब्लड ग्रुप के मिलने के बाद सभी लोग हैरान रह गए है। जानकारी के मुताबिक, गुजरात के राजकोट में रहने वाले एक 65 साल के शख्स में ये ब्लड ग्रुप पाया गया है। ये भी तब सामने आया जब उसका ब्लड टेस्ट करवाया गया क्योंकि वह दिल की बीमारी से पीड़ित है।

बता दे, जिस व्यक्ति में ऐसा दुर्लभ ब्लड ग्रुप पाया गया है वह दुनिया का 10 वां आदमी है। और भारत का पहला ऐसा शख्स है जिसमें ऐसा खून पाया गया। अभी तक दुनिया में ऐसे 9 लोग और है जिनमें भी ये ब्लड ग्रुप मौजूद है। बताया जाता है कि एक व्यक्ति के शाइरी में कई अलग अलग प्रकार के ब्लड सिस्टम होते है। किसी के इसमें ए, बी, ओ, आरएच (RH) और डफी (Duffy) ये सभी आम ब्लड ग्रुप है।

Must Read : जल्द चंडीगढ़ की ये लड़की बनेगी मीका सिंह की दुल्हनियां, सामने आई बड़ी खबर

लेकिन ईएमएम निगेटिव 42 सिस्टम है। इस ब्लड ग्रुप के लोगों में हाई-फ्रिक्वेंसी एंटीजन की कमी रहती है। ये लोग ना तो किसी को खून दे सकते है ना ही किसी से ले सकते है। जानकारी के मुताबिक, जिस व्यक्ति में ये खून पाया गया है उसे खून की जरुरत है क्योंकि उनकी दिल की सर्जरी होना है लेकिन खून ना मिलने की वजह से वो नहीं हो पाई। इसको लेकर समर्पण ब्लड डोनेशन सेंटर के फिजिशियन डॉक्टर सन्मुख जोशनी ने बताया कि इस शख्स को खून की बहुत जरुरत है।

इसलिए रखा EMM ब्लड ग्रुप नाम –

आपको बता दे, इंटरनेशनल सोसाइटी ऑफ ब्लड ट्रांसफ्यूजन इस ब्लड ग्रुप का नाम ईएमएम निगेटिव इसलिए रखा है क्योंकि EMM लाल रक्त कोशिकाओं में एंटीजन होता है। ये खून आसानी से मिल पाना बेहद मुश्किल होता है। इस खून का प्रकार गोल्डेन ब्लड। ये खून दुनिया में सिर्फ 43 लोगों में मौजूद है। दरअसल, ये गोल्डेन ब्लड पहली बार साल 1961 में पाया गया था।