Summer Plants: गर्मी में बनाएं अपनी बालकनी को हरा-भरा और गुलशन, लगाएं ये 4 पौधे, ज्यादा देखभाल की नहीं पड़ती जरूरत

Summer Plants: गर्मियों के मौसम में चिलचिलाती धूप और तपती गर्मी के कारण पौधों की देखभाल दोगुनी हो जाती है, ऐसे में क्यों ना इस मौसम में ऐसे पौधे लगाए जाएं जिनकी ज्यादा देखभाल करने की जरूरत ही ना पड़े और पौधे हरे-भरे भी रहे साथ ही फूल भी खिलते रहे।

gardening tips

Summer Plants: तरह-तरह के रंग-बिरंगे फूलों वाले पौधे लगाने का शौक सभी को होता है। अपने इसी शौक के चलते लोग अपने घर की बालकनी और छत पर तरह-तरह के पौधे लगाते हैं। अब गर्मियों का मौसम शुरू हो चुका है ऐसे में पौधों की देखभाल करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। चिलचिलाती धूप और तपती गर्मी के कारण पौधों में कई प्रकार की समस्या होने लगती है। जैसे-जैसे मौसम बदलता है वैसे-वैसे पौधों की देखभाल करने का तरीका भी हमें बदलना चाहिए। आज हम आपको इस लेख के द्वारा बताएंगे कि गर्मियों के मौसम में घर में कौन-कौन से पौधे लगाना चाहिए, इन पौधों में फूल बहुत खिलते हैं, साथ ही साथ इन पौधों की ज्यादा देखभाल करने की जरूरत नहीं पड़ती है, तो चलिए जानते हैं कि वह पौधे कौन-कौन से हैं जो आपके घर की न सिर्फ शोभा बढ़ाएंगे बल्कि आपके घर को सुगंधित बना देंगे।

गर्मी में घर में कौन-कौन से पौधे लगाएं

गेंदा

गेंदा, जिसे मैरीगोल्ड के नाम से भी जाना जाता है, एक चमकीला और सुगंधित फूल वाला पौधा है जो गर्मियों में खिलता है। यह पीले, नारंगी, लाल और भूरे रंगों सहित विभिन्न रंगों में आता है। गेंदा न केवल सुंदर होता है, बल्कि कई औषधीय गुणों से भी भरपूर होता है। गेंदे के फूल बालकनी, आंगन और बगीचे को सजाने के लिए उत्तम होते हैं। गेंदे के तेज रंग और गंध कीड़े और मच्छरों को दूर भगाने में मदद करते हैं। गेंदे के फूल और पत्तियां कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं, जैसे कि पाचन में सुधार, त्वचा की सूजन को कम करना और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना। गेंदे कम देखभाल वाले पौधे होते हैं जिन्हें अधिक पानी या उर्वरक की आवश्यकता नहीं होती है।

Continue Reading

About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग रंग होता है, यह इतना चमकदार रंग होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा की कलम में बहुत ताकत होती है, इस कलम की ताकत को बरकरार रखने के लिए हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन से बीए स्नातक किया। मैं अब आगे इसी विषय में DAVV यूनिवर्सिटी से स्नाकोत्तर कर रही हूं। मेरा पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू ही हुआ है। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग, वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली, धर्म इन विषयों पर लिखना अच्छा लगता है।