मुरैना, संजय दीक्षित। देवरी घड़ियाल केंद्र की अधिक्षका श्रध्दा पांढरे ने टीम के साथ श्योपुर से मुरैना तक रेत, पत्थर और जंगली जड़ी- बूटियों का अवैध परिवहन किया जा रहा था जिसको लेकर एसडीओ ने करीब 10 वाहनों और 11 आरोपियों को पकड़ने में बड़ी सफलता हासिल की हैं। इन वाहनों में कुछ में पत्थर व कुछ में रेत भरा हुआ था। एक बुलेरो पिकअप गाड़ी को जंगल से जड़ी बूटी भरकर वीरपुर से शिवपुरी ले जाते हुए रास्ते मे भी पकड़ा है। इन वाहनों में दो ट्रेक्टर ट्राली श्योपुर से पकड़ी गईं,  बाकी के वाहन मुरैना जिले से पकड़े हैं। इनमें अवैध चंबल का रेत भरा हुआ था इसके साथ ही दो रेत माफिया जो वन अमले की रैकी कर रहे थे,  उनको मोटर साइकिल सहित गिरफ्तार कर थाने में अग्रिम कार्यवाही के लिए सुपुर्द कर दिया है। वहीं वन अमला वीरपुर से मुरैना की तरफ लौट कर आ रहा था तभी नागर मोथा के जंगल से जड़ी बूटी भरकर बुलेरो पिकअप गाड़ी वीरपुर से शिवपुरी ले जा रही थी तभी गाड़ी सहित आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

SDO की बड़ी कार्रवाई, 10 वाहन और 11 आरोपी गिरफ्तार

आपको बता दें यह जड़ी बूटी चंबल नदी के पास जंगलों में पाई जाती है। जड़ी बूटी का वजन लगभग दो क्विंटल है। वहीं मामले में रेत माफिया को पकड़ने का प्रयास किया तो उनमें से एक मौके से भाग गया और दूसरे माफिया को मोटरसाइकिल सहित पकड़ लिया गया। एसएएफ के जवान ने जब उसका मोबाइल खोला तो उसमें कई ऐसे साक्ष्य मिले जो अन्य रेत माफिया से जुड़े होने का सबूत दे रहे थे। मोबाइल में जब कॉल रिकॉर्डिंग निकाली गईं तो उसमें कई माफिया के रेत डलवाने की रिकॉर्डिंग पाई गई। मुखबिर की सूचना के आधार पर अम्बाह बाई पास पर अवैध पत्थर से भरे ट्रक को रोककर कागज मांगे गए तो चालक नहीं दिखा सका उसके बाद ट्रक को जप्त कर वन डिपो में अग्रिम कार्रवाई के लिए रेंजर को सुपुर्द कर दिया हैं।