गेहूं-धान खरीदी में भारी अनियमितता के चलते 3 समिति प्रबंधकों को किया सेवा से बर्खास्त, शासन को लगाया लाखों रुपयों का चूना

धान और गेहूं खरीदी में अनियमितता बरतते हुए तीनों ही समिति प्रबंधको ने शासन को करीब 40 से 50 लाख रुपए का चूना लगाया था। अब विभाग ने इनसे रिकवरी करने की तैयारी कर ली है, जो कि जल्द ही इनसे वसूला जाएगा।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर में वर्ष 2019-20 में धान और गेहूं खरीदने के मामले में समिति प्रबंधकों के खिलाफ भारी अनियमितता पाई गई थी, जिसके चलते जाँच में 3 समिति प्रबंधको के खिलाफ विभाग ने कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हें सेवा से बर्खास्त कर दिया है। इसके अलावा विभाग ने समिति से हटाये गए प्रबंधको के खिलाफ लाखों रुपयों की रिकवरी भी निकाली है।

ये भी पढ़ें- MP: बिजली उपभोक्ताओं की मीटर रीडिंग में लापरवाही, 16 कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त

पहले गेहूं और फिर धान खरीदी में मिली अनियमितता के बाद शासन ने इस पूरे मामले की जांच की जहाँ पाया कि समिति प्रबंधक पाटन रामरुद्र शर्मा, समिति प्रबंधक शहपुरा मुन्नालाल, और समिति प्रबंधक सिहोरा फागचन्द्र चढ़ार ने भारी अनियमितता अपने में कामो में की थी जिसके बाद इन्हें नोटिस भी भेजा पर जब इन्होंने नोटिस का जवाब नहीं दिया तो विभाग ने तीनों पर कार्रवाई करते हुए इन्हें सेवा से हटा दिया।

ये भी पढ़ें- Sex Racket: होटल में चल रहा था सेक्स रैकेट, आपत्तिजनक हालत में 8 गिरफ्तार, कई सामान भी जब्त

धान और गेहूं खरीदी में अनियमितता बरतते हुए तीनों ही समिति प्रबंधको ने शासन को करीब 40 से 50 लाख रुपए का चूना लगाया था जिसके बाद विभाग ने इनसे रिकवरी करने की भी तैयारी कर ली है, जो कि जल्द ही इनसे वसूला जाएगा।