बैतूल से आए आदिवासी दल ने रेप के आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर SP ऑफिस में दिया धरना

आरोप है कि शाहगंज निवासी संजू चौहान खेत में काम दिलवाने के नाम पर बैतूल से आदिवासियों का एक दल शाहगंज लाया था, वहीं कार्य अवधि के दौरान संजू चौहान और उसके साथियों ने दल की 3 युवतियों के साथ रेप किया था।

सीहोर, अनुराग शर्मा। साहोर में आज बैतूल से आए आदिवासी दल में शामिल युवक-युवतियों ने एसपी ऑफिस में प्रदर्शन किया। दरअसल बैतूल से आए इन आदिवासी दल के लोगों का कहना है कि रेप और हत्या के मामले में आरोपी संजू चौहान और उसके साथियों के खिलाफ एफआईआर न होने पर वो बैतूल से सीहोर आए हैं और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर एसपी के सामने धरने पर बैठे हैं। प्रदर्शन में शामिल जायस जिला अध्यक्ष संदीप कुमार और उनके कार्यकर्ताओं का कहना है कि जब तक एसपी हमारी बात नहीं सुनेंगे, तब तक हम नहीं हटेंगे।

ये भी देखें- पुलिस के नाक के नीचे चोर ने दिया वारदात को अंजाम, नगदी समेत मोबाइल पर किया हांथ साफ, CCTV में कैद

जानकारी के अनुसार मामले पर इन आदिवासियों के नेता और नर्मदापुरम जिला अध्यक्ष संदीप ने बताया के 45 दिन पूर्व शाहगंज निवासी संजू चौहान खेत में काम दिलवाने के नाम पर बैतूल से आदिवासियों का एक दल शाहगंज लाया था, जिनमें युवक-युवतियां शामिल थे। कार्य अवधि के दौरान संजू चौहान और उसके साथियों ने आदिवासियों के दल की 3 युवतियों के साथ रेप किया था। इसकी शिकायत के लिए जब आदिवासी शाहगंज थाने पहुंचे तो थाना प्रभारी ने बिना गंभीरता दिखाए आवेदन लेकर उन्हें चलता कर दिया।

ये भी देखें- VIDEO VIRAL: महिला ने सरेराह की BJP नेता की चप्पल से पिटाई, पकड़ा गिरेबान

मामले में कई बार थाना प्रभारी से संजू चौहान और उसके साथियों के खिलाफ fir दर्ज करने की शिकायत की गई लेकिन पुलिस ने एक नहीं सुनी। जिसके चलते आज सीहोर में आदिवासी दल के लोग जायस के नेतृत्व में एसपी ऑफिस में अपनी मांग को लेकर अड़े हैं। वहीं अब तक 10 घंटे से अधिक का समय होने के बाद भी एसपी मिलने तक नहीं आये और ना ही उनकी शिकायत सुनी। मामले पर जायस अध्यक्ष का कहना है कि एसपी ऑफिस में अब तक किसी ने उनकी शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया है ना ही किसी ने सुना है, इससे सिद्ध होता है कि आरोपी संजू चौहान के संबंध सत्ताधारी दल के किसी बड़े नेता से हैं। वहीं जायस के कार्यकर्ताओं का कहना है कि जब तक sp हमारी बात नहीं सुनेंगे तब तक हम एसपी कार्यालय से नहीं हटेंगे।