पूर्व सीएम ने आंदोलन का किया ऐलान, कृषि मंत्री कमल पटेल ने दी तीखी प्रतिक्रिया

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) ने किसान आंदोलन (Peasant movement) का समर्थन करते हुए आंदोलन करने का ऐलान कर दिया है। जिसे लेकर कृषि मंत्री कमल पटेल (Agriculture Minister Kamal Patel) ने कांग्रेस पर तंज कसा है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानून (Agricultural law) के खिलाफ किसानों का आंदोलन आज 43वां दिन भी जारी रहा। इसी बीच मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) ने राज्य सरकार और केंद्र सरकार (central government) को घेरने के लिए किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए आंदोलन करने का ऐलान कर दिया है। कमलनाथ ने खुद छिंदवाड़ा से आंदोलन करने का ऐलान किया है। इसके अलावा मुरैना में किसान सम्मेलन का आयोजन (Kisan Sammelan organized) किया जाएगा। इस दौरान पूर्व सीएम कमलनाथ ने राजभवन (Raj Bhavan) का भी घेराव करने का ऐलान किया है। वहीं कांग्रेस द्वारा आंदोलन का ऐलान करने के बाद मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल (Agriculture Minister Kamal Patel) ने पलटवार किया है।

किसानों को गुमराह कर रही कांग्रेस : कृषि मंत्री

कृषि मंत्री कमल पटेल (Agriculture Minister Kamal Patel) ने कहा कि कौन कांग्रेसी किसान नहीं चाहेगा कि उसको प्रॉपर्टी का मालिकाना हक (Property ownership) मिले, कौन किसान कांग्रेसी नहीं चाहेगा कि उसका बेटा उद्योगपति बने, उसको भी सब्सिडी का फायदा (Benefit of subsidy) मिले। कांग्रेस ने तो दिया नहीं भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार दे रही है और इसीलिए पूरे देश का किसान चाहे वह कांग्रेसी हो सभी भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के साथ खड़ी है। कांग्रेस किसानों को गुमराह कर रही हैं। और इसलिए घबराई हुई है कि मोदी जी ने 5 साल में गरीबों का दिल जीता है, हर वर्ग का दिल जीता और इसीलिए वह पुनः सरकार में आए हैं।

ये भी पढ़े- पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मंडी खत्म करना बताया नुकसानदायक, जानें पूरा मामला

बीजेपी सरकार गरीबों को बना रही आत्मनिर्भर

मंत्री कमल पटेल ने कहा कि अब जब गांव में रहने वाले किसानों और गरीब वर्ग को मालिकाना हक मिल रहा है तो पूरे गांव का गरीब, जो झोपड़ी में रहता था उन्हें पक्का मकान बनवा कर दिया जा रहा है। साथ ही उन्हें रोजगार के लिए लोन भी दिया जा रहा है, जिसमें ब्याज में छूट मिलेगी। वहीं सब्सिडी भी दी जा रही है, जिससे गरीब वर्ग भी अब अपने पैरों पर खड़ा हो जाएगा। आगे मंत्री ने कहा कि जब गांव का गांव किसान व गरीब आत्मनिर्भर हो जाएगा तो वहां कांग्रेस घुस नहीं पाएगी, जिससे उन्हें वोट भी नहीं मिलेंगे। इसीलिए कांग्रेस घबराई हुई है।

सभी किसान बीजेपी के साथ है : कृषि मंत्री

उन्होंने कहा कि ‘मोदी जी ने चमत्कार कर दिया है और आने वाले चुनाव में बीजेपी एक तरफा जीतेगी। जितने भी बीजेपी विरोधी पार्टियां हैं वह सभी एक हो गई है और सभी अंतिम लड़ाई लड़ने में लगे हुए हैं। इसीलिए जब दीपक जलता है और उसमें तेल खत्म हो जाता है तो वह आखरी में भभकता है, तो यह सब भभकना ही है। ये सभी बूझने वाले हैं और खत्म होने वाले हैं। मंत्री ने कहा कांग्रेस मुक्त भारत, भ्रष्टाचार मुक्त भारत और कमल युक्त भारत। क्योंकि कमल का फूल खुशहाली व समृद्धि का प्रतीक है। इसलिए जब से देश में कमल खिला है, तब से चारों ओर विकास कार्य हो रहा है, सभी खुश हैं।’

MP में कांग्रेस ने किया किसान आंदोलन का ऐलान

बता दें कि मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने मीडिया से चर्चा करते हुए दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में मध्यप्रदेश में भी आंदोलन करने का ऐलान कर दिया है। जिसके तहत पूरे मध्यप्रदेश में 15 जनवरी से किसान 2 घंटे का चक्का जाम करेंगे। 16 जनवरी को स्वयं कमलनाथ छिंदवाड़ा में किसान आंदोलन में शामिल होंगे। 20 जनवरी को मुरैना जिले में किसान महापंचायत का आयोजन होगा। वहीं 23 जनवरी को किसानों द्वारा राजभवन का घेराव करने का ऐलान किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here