मारपीट के बाद दहशत में APO का परिवार और साथी कर्मचारी, पुलिस कार्रवाई पर उठे सवाल

पुलिस ने अभी तक क्या किया मुझे नहीं मालूम लेकिन मेरा परिवार असुरक्षित महसूस कर रहा है मेरी बेटियां डर रहीं है , क्रॉस मुक़दमे के बाद से तो डर और बढ़ गया है। 

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  शिवपुरी जिले की जनपद पंचायत बदरवास के कार्यालय में घुसकर APO के साथ मारपीट की घटना ने दहशत का माहौल बना दिया है। APO सचिन गुप्ता का परिवार डरा हुआ है वहीँ कार्यालय के कर्मचारी भी सहमे हुए हैं।  उधर घटना के 24 घंटे से अधिक बीत जाने के बाद भी दोषियों पर कार्रवाई नहीं होने से पुलिस की कार्रवाई पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

शिवपुरी जिले की जनपद पंचायत बदरवास के कार्यालय में पदस्थ अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी (APO) सचिन गुप्ता के साथ कार्यालय में घुसकर कुछ लोगों द्वारा मारपीट करने का मामला गहराता जा रहा है। आरोपियों ने कार्यालय में घुसकर अधिकारी को लहूलुहान कर दिया और भाग गए।  जाते जाते जान से मारने की धमकी भी दे गए।  घायल APO ने घटना के तुरंत बाद शुक्रवार को पौने चार बजे बदरवास थाने में चार आरोपियों के खिलाफ नामजद FIR करवाई जिसमें उन्होंने बताया कि वे कार्यालय में स्टाफ की सेलेरी और कोरोना की जानकारी शासन को भेजने का कार्य कर रहे थे तभी दिन में दिनेश यादव ने मुझे फोन किया और कहा कि मिलना हैं, मैं कार्यालय में बैठा था तभी दिनेश यादव, देवेंद्र शर्मा, राजू यादव, और सुमित यादव आये और गन्दी गन्दी गालियां देते हुए मेरे साथ मारपीट करने लगे। इन लोगों ने मुझे टेबल पर रखे पेपर वेट और ना जाने किस किस चीज से मारा जिससे मेरे खून निकलने लगा।  मौके पर मौजूद सहकर्मी अश्विनी दीक्षित में मुझे बचाया। पुलिस ने APO की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ मारपीट, गाली गलौज, शासकीय कार्य में बाधा जैसी धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया।

उधर सचिन गुप्ता की FIR के बाद पुलिस ने दूसरे पक्ष की शिकायत पर सचिन गुप्ता के खिलाफ भी मारपीट और गाली  गलौज की FIR दर्ज कर ली। इसके बाद से बदरवास सहित पूरे जिले में कर्मचारियों में रोष हैं।  कर्मचारियों का कहना है कि जिसके साथ मारपीट हुई उसी के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज किया गया ये पुलिस की ज्यादती है।

ये भी पढ़ें – गुना : औषधीय और प्राकृतिक महत्व के पौधों से विकसित होगा श्री राम संजीवनी उपवन

वहीं घटना के बाद से APO सचिन गुप्ता के परिवार के लोग डरे सहमे हैं और कार्यालय के कर्मचारी भी डरे हुए हैं।  इन लोगों का कहना है कि  ऐसे तो कोई भी आकर कार्यालय में मारपीट कर जाएगा हमारी सुरक्षा कौन करेगा।  APO सचिन गुप्ता खुद दहशत में हैं वे किसी भी अनजान नंबर को उठाने से डर रहे हैं। उनका कहना है कि पुलिस ने अभी तक क्या किया मुझे नहीं मालूम लेकिन मेरा परिवार असुरक्षित महसूस कर रहा है मेरी बेटियां डर रहीं है , क्रॉस मुक़दमे के बाद से तो डर और बढ़ गया है।

ये भी पढ़ें – Video : आरक्षक का तड़ीपार बदमाश और युवतियों के साथ अश्लील डांस वीडियो वायरल

पूरे मामले पर शिवपुरी एसपी श्री चंदेल ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए कहा कि दोनों तरफ से FIR हुई है।  दूसरे पक्ष का कहना है कि उन्हें भ्रष्टाचार की शिकायत मिली थी उसकी ही बात करने गए थे।  वे लोग शायद पत्रकार हैं वे स्वतंत्र हैं कहीं भी आ जा सकते हैं लेकिन यदि मारपीट की है तो ये जाँच का विषय है। मुकदमा दर्ज हुआ है और जाँच की जा रही है।

खास बात ये है कि घटना के 24 घंटे से अधिक समय बीत जाने के बाद भी पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया है।  टीआई बदरवास राकेश शर्मा ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए कहा कि कल में छुट्टी पर था लेकिन मुझे घटना की जानकारी है,  अभी किसी की गिरफ़्तारी नहीं हुई है लेकिन जल्दी ही दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें – अब बुधवार को शिवराज से मुलाकात करेंगे महाराज, क्या है एजेंडा!