1 मई से 4 मई तक हजरत चांदशाह बाबा का उर्स ए मुबारक मनाया जाएगा

urs-of-chand-baba-in-ashoknagar

अशोकनगर मुंगावली। अलीम डायर।

हर साल की तरह इस साल भी हिंदू मुस्लिम एकता के प्रतीक कौमी एकता की जिंदा मिसाल अज़ीमुश्शान हजरत चांदशाह बाबा रहमतुल्लाह अलैह का 53 वां तीन दिवसीय सार्वजनिक उर्स ए मुबारक 1 मई से 4 मई तक खुलूसों अकीदत के साथ मनाया जा रहा है  जिसकी तैयारियां जोरों शोरों पर है और लगभग संपूर्ण होने वाली है।

1 मई दिन बुधवार को सुबह कुरान खानी बाद नमाज़ असर चादर शरीफ शहर का गस्त करके मजार ए मुबारक पर चढ़ाई जाएगी बाद नमाज इशा रात 9:00 बजे कौमी एकता ऑल इंडिया मुशायरा जिसमे हिंदुस्तान के मशहूर शायर हस्ब जेल शिरकत फरमा रहे हैं। 2 मई दिन जुमेरात को बाद नमाज इशा के सिराज चिश्ती इंटरनेशनल कव्वाल गुजरात और बेबी शहनाज ताज इंटरनेशनल कव्वाला औरंगाबाद बनारसी का कव्वालियों का जंगी मुकाबला होगा। 3 मई दिन जुमा को  बाद नमाज इशा के सलीम जावेद इंटरनेशनल कव्वाल बैंगलोर और फिरदोस आज़मी इंटरनेशनल कब्बाला फरीदाबाद का कव्वाली जंगी मुकाबला होगा।

इस उर्स के दौरान एक बहुत बड़े मेले का आयोजन भी किया जाता है जिसमें लोगों और बच्चों को मनोरंजन के लिए सर्कस झूले क्रोकरी की दुकान बच्चों के लिए खेल खिलौना की दुकान और घर के रोजमर्रा की जरूरी सामान  की दुकाने लगाई जाती है। इसमें सर्व धर्म के लोग उत्साह पूर्वक मेले का आनंद लेते हैं और खरीद-फरोख्त भी करते हैं क्योंकि नगर में साल भर में यही एक  मेला लगता है जिसमें नगर के सभी लोग और बच्चे मनोरंजन कर  मेले का आनंद लेते हैं  और खरीददारी करते हैं।  सभी धर्म के लोग इसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं और मिलजुलकर उर्स को सफल बनाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here