मुंबई से आये दो और युवकों की कोरोनो रिपोर्ट पॉजिटिव

बालाघाट। सुनील कोरे| 20 मई को जिले के खैरलांजी क्षेत्र अंतर्गत भजियादंड निवासी 20 वर्षीय युवक के रूप में कोरोना पॉजिटिव का पहला मरीज मिला था। जिसके बाद आज तीसरे दिन 23 मई को उसके साथ मुंबई से आये दो और साथियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिससे जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज की संख्या बढ़कर 3 हो गई है। इसके बाद अब बालाघाट जिला भी कोरोना पॉजिटिव की श्रेणी, रेड जोन में आ गया है।

बीते 22 मई की देररात भजियादंड निवासी क्रमशः 29 और 25 वर्षीय युवक की आईसीएमआर लैब जबलपुर से कोरोना पॉजिटिव मरीज रिपोर्ट आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने दोनो ही युवकों को रेंजर कॉलेज के कोविड सेंटर से सरदार पटेल होमियोपैथ कालेज गायखुरी-बालाघाट में बनाये गये कोविड-19 अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती किया गया है।
16 मई को युवक पहुंचे थे गांव
मुंबई में काम करने गये भजियादंड के तीन युवको के अलावा दो गोंदिया और मुरझड़ तथा अतरी के एक-एक युवक 16 मई की रात्रि पिकअप वाहन से तिरोड़ा पहुंचे थे। जहां से गोंदिया के अन्य दो युवक गोंदिया चले गये थे। जबकि बालाघाट जिले के भजियादंड, अतरी और मुरझड़ के युवक तिरोड़ा से परसवाड़ा होते हुए वैनगंगा पुल से 16 मई की रात्रि खैरी पहुंचे थे, लेकिन तिरोड़ा से खैरी आने वाली रोड को पहले ही बंद कर दिया गया था। इसके कारण से इन लोगों ने अपने गांव के तीन लोगों को मोटर साईकिल से लेने के लिए खैरी नाके तक आने कहा था। तीन मोटर साईकिल से यह 5 लोग 16 मई की रात में भजियादंड पहुंचे थे। इनमें से तीन युवक भजियादंड के, एक मुरझड़ का और एक व्यक्ति ग्राम अतरी का था। प्रशासनिक रिपोर्ट के अनुसार 18 मई को भजियादंड के एक युवक का स्वास्थ्य खराब होने पर वह खैरलांजी के अस्पताल में उपचार कराने आया था। जिस पर कोरोना संदिग्ध होने के कारण उसे खैरलांजी के अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था और उसका सेंपल लेकर कोरोना टेस्ट के लिए जबलपुर भेज दिया गया था। 20 मई को भजियादंड के संदिग्ध मरीज की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उसे उपचार के लिए कोविड-19 अस्पताल बालाघाट में भर्ती करा दिया गया था। जिसके बाद उसके साथ आये भजियादंड गांव के ही दो युवक और अन्य मुरझड़ एवं अतरी के युवक को सुरक्षा के ऐतिहातन तौर पर बालाघाट मुख्यालय में रेंजर कॉलेज में बनाये गये कोविड सेंटर में भर्ती कराया गया था।
दो सैंपल पॉजिटिव, एक निगेटिव, एक की रिपोर्ट आना बाकी
स्वास्थ्य विभाग की मानें तो मुंबई से भजियादंड आये एक युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उसके परिजनों के अलावा उसके सभी साथियों को कोविड सेंटर में क्वारेंटाईन करने के बाद उनके भी सैंपल जांच के लिए भेजंे गये थे। जिसमें दो साथियों की रिपोर्ट पॉजिटिव और एक साथी की निगेटिव आई है। जबकि एक साथी की रिपोर्ट आना बाकी है। आज 23 मई को पॉजिटिव पाये गये दो युवकों के परिवारों को भी ऐतिहातन के तौर पर बालाघाट लाकर उन्हें क्वारेंटाईन सेंटर में निगरानी के लिए रखा गया है। विभागीय अधिकारी की मानें तो पॉजिटिव पाये गये युवकों के एक साथी की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी उसे चिकित्सीय निगरानी में रखा गया है, यदि उसमें आगामी दिनों में कोई सिम्टम्स नहीं पाये जाते है तो सेंटर में प्रोटोकॉल के तहत 14 दिन रखने के बाद छुट्टी दे दी जायेगी और यदि कोई सिम्टम्स पाये जाते है तो एक बार फिर उसके सैंपल को जांच के लिए भेजा जायेगा।
भजियादंड में पसरा सन्नाटा 
भजियादंड के तीन युवकों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासनिक तौर से सील किये गये गांव में सन्नाटे का माहौल है। गांव में सभी लोग घरो में कैद है, यहां सुरक्षा के ऐतिहातन तौर प्रशासनिक अमला गांव में नजर बनाये हुए है। आवागमन के साथ ही सभी गतिविधियां बंद कर दी गई है।
16 सीसीटीव्ही कैमरो से रखी जा रही नजर
भजियादंड से पहला कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आने के बाद जहां प्रशासन ने भजियादंड को सील कर दिया था, वहीं गांव में लोगों की आवाजाही पर नजर बनाये रखने के लिए प्रशासन अब सीसीटीव्ही कैमरे से गांव की निगरानी भी कर रहा है। पंचायत सचिव भूतेन्द्र वाघाड़े ने बताया कि गांव में कोरोना पॉजिटिव मरीज पाये जाने के बाद गांव मंे लोगों की आवाजाही पर निगरानी रखने के लिए 16 सीसीटीव्ही कैमरे लगाये गये है। जिससे गांव में लोगांे पर नजर रखी जा रही है। वहीं पंचायत के पास से गांव के प्रवेश द्वार को बेरिकेट लगाकर बंद कर दिया गया है। साथ ही पुलिस यहां पुलिस भी बल तैनात कर दिया गया है, जो लोगों की आवाजाही पर नजर बनाये हुए है।

इनका कहना है
भजियादंड के पहले मिले कोरोना पॉजिटिव मरीज के दो और साथियों की रिपोर्ट बीती रात पॉजिटिव आने के बाद उन्हें कोविड सेंटर से गायखुरी स्थित सरदार पटेल होम्यापैथिक कॉलेज को बनाये गये कोविड अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। ऐतिहातन के तौर पर उनके परिवार वालों को कोविड सेंटर में लाकर रखवाया गया है। मुंबई से आये पांच युवकों में तीन की रिपोर्ट पॉजिटिव और एक की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि एक की रिपोर्ट आना बाकी है।
-डॉ. मनोज पांडेय, सीएचएमओ, स्वास्थ्य विभाग बालाघाट