Balaghat News : लामता चोरी के तीन आरोपी गिरफ्तार, एक फरार

Balaghat Theft News : बालाघाट जिले के लामता थाना क्षेत्र के नरसिंगा में 6 फरवरी को घर में घुसकर आलमारी से जेवरात और नगद रूपये चोरी करने के मामले में वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में लामता पुलिस ने तीन आरोपियों सिवनी जिले के केवलारी थाना अंतर्गत मालनवाड़ा निवासी 45 वर्षीय मुस्तफा उर्फ गुड्डु पिता रज्जाक शाह, चांगोटोला थाना के मऊ निवासी 35 वर्षीय मकबुल पिता राजुल शाह और छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिला अंतर्गत थाना चिलहटी के ग्राम बिचारपुर निवासी 22 वर्षीय भारद्वाज उर्फ भारत पिता अनिल कोसा को गिरफ्तार किया है। जिनके पास से पुलिस ने एक कार, साढ़े तीन लाख रूपये के जेवरात और 11 हजार रूपये बरामद किये है। जबकि मामले में चौथा आरोपी फैजान फरार है।

यह है मामला

लामता के नरसिंगा में संपत्ति अपराध के इस मामले का खुलासा करते हुए कंट्रोल रूम में पुलिस अधीक्षक समीर सौरभ ने बताया कि चोरी के मामले में पकड़ाये गये आरोपी आदतन आरोपी है। जिन्होंने थाना परसवाड़ा और डिंडौरी के बिछिया में भी चोरी करना स्वीकार किया है। मकबूल शाह पर 13, मुस्तफा उर्फ गुड्डी शाह पर 11 तथा भारद्वाज कोसा में 5 मामले जिले सहित अन्य स्थानों पर दर्ज है। चूंकि आरोपी आदतन अपराधी है, जिसके चलते इन्हें कड़ी सजा मिले इसका प्रयास किया जायेगा और बांड ओवर भी भराया जायेगा।

Balaghat News : लामता चोरी के तीन आरोपी गिरफ्तार, एक फरार

वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में आरोपी को गिरफ्तार करने में एसडीओपी परसवाड़ा सतीश साहु, लामता थाना प्रभारी पी.एस. डामोर, उपनिरीक्षक संजीव दीक्षित, पंकज साक्य, एएसआई नागेन्द्र पटेल, प्रआर. तिलकचंद सोनेकर, कार्य प्रआर. नरेन्द्र जैतवार, आरक्षक विनोद विश्वकर्मा, देवेन्द्र पंद्राम, हरिहर द्धिवेदी, संदीप पुसाम, भूपेन्द्र चौहान, सतेन्द्र बघेल, ओमप्रकाश बोपचे, अमरदीप, 35 वीं वाहिनी प्रआर. चंद्रप्रकाश राजपूत, साईबर सेल प्रआर. सोवेन्द्र डहरवाल, आरक्षक बलिराम यादव एवं पंकज विष्ट की भूमिका सराहनीय रही।
बालाघाट से सुनील कोरे की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News