गौरीशंकर बिसेन की स्वागत रैली में कटी 2 दर्जन समर्थकों की जेब, पुलिस सुरक्षा पर भाजपा नेता ने जताई नाराजगी

इस मामले में सीएसपी कर्णिक श्रीवास्तव का कहना है कि रैली में कुछ लोगो के जेब काटने की घटना की शिकायत मिली है। सीसीटीव्ही के माध्यम से कुछ लोगो की पहचान की गई है। जिनकी तलाश की जा रही है।

बालाघाट, सुनील कोरे। मप्र सरकार (MP Government) द्वारा मनोनित किये गए पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग अध्यक्ष गौरीशंकर बिसेन (Gaurishankar Bisen) का 8 सितंबर को प्रथम बालाघाट (Balaghat) आगमन हुआ था और उनके स्वागत की भीड़ का फायदा उठाते हुए जेबकतरों ने एक, दो नहीं बल्कि 2 दर्जन से ज्यादा लोगो की जेब पर हाथ साफ कर हजारो रुपए पर कर दिये। बताया जाता है कि कोसमी से शहर के बीच जेबकतरों ने अपने हाथों की सफाई से कई लोगो की जेबो से पर्स पार कर दिया। पर्स में पीड़ितों के रुपए के साथ ही महत्वपूर्ण दस्तावेज भी मौजूद थे। जिसकी शिकायत पीड़ितों द्वारा पुलिस में की गई है।

यह भी पढ़ें…पुलिस का अवैध शराब बनाने वाली फैक्ट्री पर छापा, 32 पेटी देशी शराब के साथ 1 आरोपी गिरफ्तार

नामचीन लोगो के ही जेबों पर हाथ साफ किया
पुलिस आयोग अध्यक्ष की स्वागत रैली में भीड़ का फायदा उठाकर घुसे जेबकतरों की पहचान के लिए सीसीटीवी की फुटेज से जेबकतरों की तलाश कर रही है। पुलिस सूत्रों की माने तो संदेही जेबकतरे की पहचान हो चुकी है। अब पुलिस उनकी तलाश कर रही है। हालांकि जेबकतरों ने नामचीन लोगो के ही जेबो पर हाथ साफ किया है। जिससे लगता है कि जेबकतरे को भान था कि इनके जेब, रुपए से भरे है। हालांकि यह भाजपा नेता के स्वागत रैली में समर्थकों की जेबो पर हाथ साफ करने की कोई पहली घटना नहीं है। बताया जाता है कि इससे पूर्व आयुष मंत्री (AYUSH minister) रामकिशोर कावरे (Ramkishore Kavre) के प्रथम नगरामन पर भी इसी तरह की घटना सामने आई थी। भाजपा व्यापारी प्रकोष्ठ जिला सहसंयोजक राज हरिनखेड़े ने दूसरी बार भाजपा के स्वागत रैली में जेबकतरों की इस हरकत की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि यदि पुलिस प्रशासन उस समय ही इस घटना को गंभीरता से लेकर कार्रवाई करता तो संभवतः आज लोगों की जेबे नहीं कटती।

मेरे और भाई के साथ अन्य लोगो की कटी जेब-गोलू ठाकरे
पीड़ित देवेंद्र गोलू ठाकरे ने प्रेस चर्चा करते हुए बताया कि हमारे नेता पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग अध्यक्ष का आगमन गोंदिया से वाहनों के काफिले के साथ हुआ था। शहर प्रवेश से पूर्व कोसमी से स्वागत जुलूस में जब भीड़ के साथ काफिला आगे बढ़ रहा था, इसी दौरान उनकी जेब कट गई और शहर के हनुमान चौक पहुंचते-पहुंचते यह बात सामने आई कि लगभग 2 दर्जन लोगों से ज्यादा स्वागत में शामिल लोगों की जेबें कट गई है। जिसमे मेरे भाई सहित अन्य लोग है। घटना की शिकायत पुलिस में की गई है।

इनकी कटी जेबें
स्वागत भीड़ में जेबकतरों ने पीड़ित देवेंद्र गोलू ठाकरे की जेब से 13 हजार 500 रुपये, लवली सचदेवा की जेब से 22 हजार रुपए, राजू बिसेन की जेब से 17 हजार 500 रुपए, श्रीकांत बबलू ठाकरे की जेब से 8 हजार रुपए, दिलीप पटेल की जेब से 10 हजार 700 रुपए, श्यामलाल बिसेन की जेब से 10 हजार रुपए, अमन गांधी की जेब से 15 हजार रुपए, योगेश नगपुरे की जेब से 5 हजार रुपए, अमूले की जेब से 4 हजार 900 रुपए, बंटी ठाकरे की जेब से 4 हजार रुपए सहित लगभग 2 दर्जन से ज्यादा लोगो की जेब से पर्स पार कर दिये।

सुरक्षा के बाद जेबकतरों ने दिखाई करामात
आयोग अध्यक्ष के निकले स्वागत रैली में प्रदेश शासन के मंत्री सहित सत्ताधारी पार्टी के बड़े नेता, पदाधिकारियों के साथ ही कार्यकर्ताओं का हुजूम मौजूद था। स्वागत रैली की सुरक्षा को लेकर पुलिस का अमला भी मौजूद था। उसके बाद भी जेबकतरों ने हाथों की करामात से कई लोगो की जेबे हल्की कर दी। जिले में लगातार बढ़ रहे अपराध खासकर चोरी की घटना के बीच जेबकतरों की इस बड़ी घटना ने सुरक्षा तंत्र की सक्रियता पर सवाल खड़े कर दिए। पीड़ित स्वयं यह मान रहे कि ऐसी घटना होना सुरक्षा में सेंध के साथ ही पुलिस की बड़ी लापरवाही है। पुलिस अपराधों पर अंकुश नही लगा पा रही है।

आयुष मंत्री कावरे के स्वागत रैली में कटी थी समर्थकों की जेबे
व्यापारी प्रकोष्ठ जिला सहसंयोजक राज हरिनखेड़े ने बताया कि आयोग अध्यक्ष गौरीशंकर बिसेन के स्वागत रैली में कुछ असामाजिक तत्वों ने घुसकर लोगों की जेबों पर हाथ साफ किया है। इससे पहले, प्रदेश शासन के आयुष मंत्री रामकिशोर कावरे के स्वागत रैली में भी इस तरह की घटनायें हो चुकी है। जिसमें मेरे जेब कटने के साथ ही वर्तमान भाजपा अध्यक्ष रमेश भटेरे, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष रमेश रंगलानी और श्याम कौशल की भी असामाजिक तत्वों ने रैली का फायदा उठाकर जेब काट ली थी। जिस मामले को श्याम कौशल द्वारा उठाया गया था, लेकिन उस पर ध्यान नहीं दिया गया। यदि उसी घटना को लेकर गंभीरता से ध्यान दिया जाता तो आज लोगों के साथ जेबकटने जैसी घटना नहीं होती।

इधर इस मामले में सीएसपी कर्णिक श्रीवास्तव का कहना है कि रैली में कुछ लोगो के जेब काटने की घटना की शिकायत मिली है। सीसीटीव्ही के माध्यम से कुछ लोगो की पहचान की गई है। जिनकी तलाश की जा रही है।

यह भी पढ़ें… इथेनॉल पॉलिसी को मिल सकती है मंजूरी, CM Shivraj ने कही ये बात