सिंधिया के दौरे से पहले सियासी हलचल तेज, कांग्रेस ने पूछा सवाल – आपने क्या किया?

ये सरकार को दोहरी और दमनकारी नीति है जिसके खिलाफ अब विपक्षी दल 10 दिनों तक ग्वालियर में पदयात्रा करेगा और जनता को बताएगा।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के ग्वालियर  (Gwalior) दौरे को लेकर सियासी हलचल तेज हो गई।  सिंधिया की शोभा यात्रा पर कोरोना गाइड लाइन का हवाला देकर मुखर हुई कांग्रेस (Congress) अब सड़कों पर आ गई है। कांग्रेस ने आज सोमवार को दो घंटे का सांकेतिक धरना देकर विरोध जताया और 10 दिवसीय विरोध कार्यक्रम की घोषणा की। कांग्रेस ने सवाल किया कि केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आखिर ऐसा किया क्या है जो उनकी शोभायात्रा निकाली जा रही है, स्वागत किया जा रहा है।

केंद्र की मोदी सरकार और मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार के खिलाफ ग्वालियर में 19 विपक्षी दल एकजुट होकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। कांग्रेस ने नेतृत्व में किये जा रहे विरोध प्रदर्शन की शुरुआत दो घंटे के सांकेतिक धरने के साथ हुई। कांग्रेस के जिला अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा ने मीडिया को बताया कि केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश की शिवराज सरकार ने जनता पर महंगाई की मार इतनी कर दी है कि जनता त्रस्त है लेकिन सरकार मस्त है, रोजगार है नहीं।

 ये भी पढ़ें – MP Weather : मप्र के 14 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बिजली गिरने की भी चेतावनी

कांग्रेस जिला अध्यक्ष ने कहा कि जब विपक्षी दल जनता की आवाज उठाते हैं तो सरकार के इशारे पर जिला प्रशासन के अधिकारी कोरोना गाइड लाइन का हवाला देते हुए धारा 188 की कार्रवाई कर विपक्ष के नेताओं पर एफआईआर कर देते हैं। ये सरकार को दोहरी और दमनकारी नीति है जिसके खिलाफ अब विपक्षी दल 10 दिनों तक ग्वालियर में पदयात्रा करेंगे  और जनता को बताएँगे।

ये भी पढ़ें – नरोत्तम मिश्रा का हमला, पंजाब के नये सीएम से आधी आबादी को खतरा

कांग्रेस जिला अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा ने कहा कि 22 सितम्बर को केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर आ रहे हैं उनकी शोभायात्रा, आशीर्वाद यात्रा निकाली जा रही है। उन्होंने सवाल किया आखिर ऐसा किया क्या है सिंधिया जी ने, जो स्वागत हो रहा है।  जब कोरोना में ग्वालियर के लोग मर रहे थे, बाढ़ में सैकड़ों घर बह गए हजारों ग्रामीण बेघरबार हो गए तब सिंधिया जी ने ग्वालियर की सुध क्यों नहीं ली, अब स्वागत कराने आ रहे हैं।  उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस या कोई दूसरा विपक्षी दल जनता की आवाज उठाता है तो कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन होता है और जब भाजपा के कार्यक्रम होते हैं तो कोरोना गाइड लाइन कहाँ चली जाती है ?

ये भी पढ़ें – वीसी में शिवराज सिंह चौहान की अधिकारियों को चेतावनी- मैं औचक निरीक्षण करूंगा