भिंड जिले में अधिकारियों पर अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई , 68 अधिकारियों पर 95 हजार का जुर्माना

भिंड, गणेश भारद्वाज। समय सीमा में जनसामान्य के प्रकरणों का निराकरण न करने व मुख्यमंत्री ऑनलाइन शिकायतों का निराकरण न करने वाले 68 अधिकारियों पर 95 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। एसडीएम ओमनारायण सिंह पर 21 हजार 500, इकबाल मोहहमद पर 6 हजार 500 व नायब तहसीलदार विजय त्यागी पर 23 हजार 500 सहित कई नगरीय निकाय सीएमओ, थाना प्रभारियों व विभाग प्रमुखों पर जुर्माना लगाया है। कलेक्टर वीरेंद्र रावत ने द्वारा विभागीय अधिकारियों पर जुर्माने की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की गई है।

इन अधिकारियों पर हुआ इतना जुर्माना

कलेक्टर वीरेन्द्र सिंह रावत ने लोकसेवा अन्तर्गत लंबित प्रकरणों का निराकरण समय-सीमा में न करने पर 16 अधिकारियों पर 72 हजार 500 रूपए का अर्थदण्ड अधिरोपित किया है। जिन अधिकारियों पर अर्थदण्ड लगाया गया है उनमें जनपद पंचायत भिण्ड के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आलोक प्रताप सिंह इटोरिया पर 250 रूपए, प्रभारी अधिकारी रिकार्ड रूम जिला स्तर इकबाल मोहम्मद पर 6250 रूपए, नायब तहसीलदार दबोह नवीन भारद्वाज पर 250 रूपए, नायब तहसीलदार निशिकांत जैन 5750 रूपए, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व भिण्ड ओमनारायण सिंह पर 21500 रूपए, मुख्यकार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत ओमप्रकाश सिंह कौरव पर 500 रूपए, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व लहार रामअखत्यार प्रजापति पर 2000 रूपए, तहसीलदार अटेर रामजीलाल वर्मा पर 3500 रूपए, मुख्य नगर पालिका अधिकारी अकोडा रामभान सिंह भदौरिया पर 500 रूपए, मुख्य नगर पालिका अधिकारी रमेश सिंह यादव पर 250 रूपए, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत लहार रामप्रसाद चौरसिया पर 750 रूपए, नायब तहसीलदार एडोरी शिल्पा सिंह पर 2250 रूपए, नायब तहसीलदार गोहद शिल्पा सिंह पर 3250 रूपए, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व गोहद शुभम शर्मा पर 1250 रूपए, उप संचालक कृषि सुरेश प्रसाद शर्मा पर 750 रूपए एवं नायब तहसीलदार सुरपुरा विजय कुमार त्यागी पर 23500 रूपए का जुर्माना किया गया है। इस प्रकार कुल 16 अधिकारियों पर 72 हजार 500 रूपए का अर्थदण्ड लगाया गया है।

CM Helpline में अनअटेंडेड शिकायतें, 52 अधिकारियों पर 22700 रू. जुर्माना

जिला कलेक्टर वीरेन्द्र सिंह रावत ने सीएम हैल्पलाईन में 52 अधिकारियों के स्तर से 227 शिकायतें अन अटेंडेड ऊपर के लेवल पर जाने पर प्रति शिकायत 100 रूपये के मान से कुल 22700 रूपये का जुर्माना लगाया है। इसके तहत द्वारा सीईओ जनपद लहार  रामप्रसाद गोरछिया, तहसीलदार भिण्ड प्रमोद कुमार गर्ग, एईपीएचई लहार के.सी.झा, सीएमओ नपा भिण्ड सुरेन्द्र शर्मा, बीईओ अटेर कृष्ण गोपाल शर्मा, जईएमपीईबी अटेर बी सरकार, बईओ गोहद केएल शैजवार, सहायक यंत्री एमपीईबी मिहोना अतुल रस्तोगी, प्रबंधक एमपीईबी भिण्ड शहरी आलोक कुमार सहाय, कनिष्ठ यंत्री एमपीईबी आलमपुर  सुनील त्रिपाठी, सीएमओ आलमपुर अशोक यादव, सहायक यंत्री एमपीईबी भिण्ड ग्रामीण  अवध शर्मा, तहसीलदार अटेर रामजीलाल वर्मा, वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी लहार महेन्द्र सिंह भदौरिया, उप निरीक्षक थाना अमायन शिवप्रताप सिंह, कार्यालय अधीक्षक भिण्ड योगेन्द्र सिंह कुशवाह, नायब तहसीलदार मिहोना रामनिवास धाकड, वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी रौन आरके शर्मा, कनिष्ठ यंत्री अमित शर्मा, तहसीलदार मौ निशिकांत जैन, सीएमओ गोरमी सियाशरण यादव, सीडीपीओ लहार अजयदेव जाटव, खनिज निरीक्षक भिण्ड, लहार विजय चक्रवती, वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी गोहद भानुप्रताप सिंह घुरैया, एसडीएम अटेर अभिषेक चौरसिया, तहसीलदार लहार नवीन भारद्वाज, वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी भिण्ड रमेश भदौरिया, प्राचार्य पूर्णसिंह चौहान,सीएमओ मेहगांव राघवेन्द्र शर्मा, वन परिक्षेत्र अधिकारी भिण्ड राजू गौड, कनिष्ठ यंत्री एमपीईबी अमायन तुषार सिंह, उप कुल सचिव आरजीपीवी भोपाल धर्मेन्द्र शुक्ला, पीडब्ल्यूडी अनुविभागीय अधिकारी नं.1 भिण्ड पीके शर्मा, निरीक्षक थाना मेहगांव रमेश शाक्य, परिक्षेत्र अधिकारी अटेर सतेन्द्र सिंह सिकरवार, उप निरीक्षक थाना गोहद चौराहा अजय सिंह यादव,सेक्सन ऑफिसर अरविन्द महाडिक,सीएमओ फूप प्रदीप कुमार शर्मा, बाल विकास परियोजना अधिकारी शहरी विकास गुप्ता, सहायक यंत्री डीआर जर्मन, कनिष्ठ यंत्री एमपीईबी दबोह अशोक दावर, कनिपष्ठ यंत्री एमपीईबी असवार प्रकाश आर्य, निरीक्षक थाना दबोह विनोद विनायक करकरे, डीईजीएम सौरभ उपाध्याय, उप निरीक्षक परूषराम अहिरवार, कनिष्ठ उत्पादन सहायक अरविन्द सिंह चौहान, बीआरसी गोहद केएल सेजवार, प्रशासनिक अधिकारी सुरेन्द्र बिरवा, कनिष्ठ यंत्री एमपीईबी उमरी एमआर सिद्दिकी, सीएमओ अकोडा रामभान सिंह भदौरिया, निरीक्षक थाना रौन कुशल सिंह भदौरिया, अनुविभागीय अधिकारी लहार आरए प्रजापति, सीएमओ लहार महेश पुरोहित सहित 52 अधिकारियों के स्तर से 227 शिकायते अनअटेंडेड ऊपर के लेवल पर जाने पर प्रति शिकायत 100 रूपये के मान से कुल 22700 रूपये का जुर्माना लगाया है।