बीजेपी नेता का बेतुका बयान- ताली बजाने से भागता है कोरोना

अपने अजीबोगरीब दलील से नेता हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं। यह नजारा गुरुवार को मालनपुर में भाजपा अजा मोर्चा के जनसभा में देखने को मिला।

नेता

भिंड, डेस्क रिपोर्ट। नेता और उनके बेतुके बयान का इतिहास पुराना रहा है। अपने अजीबोगरीब दलील से नेता हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं। यह नजारा गुरुवार को मालनपुर में भाजपा अजा मोर्चा के जनसभा में देखने को मिला। जहां भाजपा अजा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल सिंह आर्य ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने ऐसा ही एक बेतुका बयान दे दिया है।

दरअसल गुरुवार को सभा में लोगों से सीएम शिवराज के लिए अभिवादन करने की अपील करते हुए उन्होंने तालियां बजाने को कहा। इसी बीच लाल सिंह आर्य ने कहा कि ताली बजाना भी योग है। इससे कोरोना भागता है।

ये भी पढ़े: पूर्व मंत्री लाल सिंह आर्य के बिगड़े बोल, कांग्रेसियों को बताया डकैत, वीडियो वायरल

इधर शिवराज सिंह चौहान(shivraj singh chauhan) ने दिग्विजय सिंह(digvijay singh) और कमलनाथ(kamalnath) पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा इस उपचुनाव में कांग्रेस बोरा सी गई है। कमलनाथ यह तक नहीं समझ पाए कि दिग्विजय सिंह कि किस कलाकारी से उनकी सरकार चली गई। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद थी कि 15 साल बाद सत्ता में लौटी कांग्रेस(congress) ईमानदारी से काम करेगी लेकिन ऐसे काम किए कि सवा साल में उनके पापों का घड़ा भी भर गया और एक बार फिर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बन गए। वहीँ सीएम शिवराज ने किसानों से कहा कि किसान भाइयों, चिंता मत करना; जैसे हमने गेहूं खरीदा, उसी तरह धान का एक-एक दाना खरीदेंगे। प्रदेश के उद्योगों में 70% रोजगार स्थानीय युवाओं को दिये जायेंगे।

वही जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर(narendra singh tomar) ने कांग्रेस पर जमकर निशाना भी साधा है। नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि एक जमाना था। जब राजीव गांधी कहा करते थे कि 100 रुपए भेजने पर किसानों के पास 15 रुपए ही पहुंच पाता है लेकिन आज हम गर्व से कह सकते हैं कि अगर हम 100 रुपए भेजते हैं तो किसान के खाते में 100 ही जमा होते हैं।

ये भी पढ़े: किसानों और युवाओं को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान

बता दे कि मध्य प्रदेश में आगामी 3 नवंबर को 28 सीटों पर उपचुनाव होने हैं।वहीं दिसंबर को बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही मध्य प्रदेश उपचुनाव के परिणाम घोषित किए जाएंगे। इससे पहले नेताओं का एक दूसरे पार तीखा प्रहार जारी है