रमेश दुबे का खुलासा, रोक के बावजूद पावर मेक कंपनी के लोग पनडुब्बी से निकाल रहे रेत

भिण्ड| विधानसभा क्षेत्र पूर्व प्रत्याशी डॉ रमेश दुबे ने आज खुलासा करते हुए बताया है कि भिण्ड जिले की जीवन रेखा सिन्ध नदी से आज भी पॉवरमेक कम्पनी के लोग और रेत माफ़िया पनडुब्बियों, जेसीबी मशीनों से रेत निकालने का काम बड़ी तेजी से कई रेत खदानो पर लगातार कर रहे हैं।।जबकि एनजीटी पूरे भारतवर्ष में विगत 30 जून से किसी भी नदी से रेत निकालने पर रोक लगा चुका है।

रमेश दुबे ने कहा भिण्ड में पावर मेक कम्पनी खुलेआम हर नियम कानून की धज्जियां उड़ाकर सिन्ध नदी को बर्बाद कर रहा है जो कि नदी के पर्यावरण को खराब करेगा वहीं जलीय जीवों का जीवन नष्ट होगा। खेती किसानी की जो जमीन नदी किनारे की है उसको भी बहुत नुक्सान पहुंचेगा। रमेश दुबे ने प्रशासन से तत्काल रेत खनन रोकने की मांग की है।

दुबे की शिकायत पर चम्बल कमिश्नर आर के मिश्रा ने भिण्ड के अपर कलेक्टर को अवैध और अनियमित तरीके से चल रहे रेत उत्खनन की जांच सौंपी है, लेकिन इसके बावजूद भी रेत माफियाओं के और पावर मेक कम्पनी का गठजोड़ सिन्ध नदी की रेत सरेआम लूट रहा है। डॉ रमेश दुबे ने पॉवरमेक कम्पनी के प्रबंधन के खिलाफ अपराधिक प्रकरण दर्ज कर कठोर कार्यवाही की भी मांग जिला प्रशासन से की है।।

डॉ रमेश दुबे ने आज के खिंचे हुए कुछ महत्वपूर्ण फ़ोटो मीडिया को उपलब्ध कराते हुए बताया है कि भिण्ड जिले की मेहरा खुर्द, मान गढ़ , गोरम भारोली, बरेठी,परराइच, सहित एक दर्जन रेत खदानो पर पनडुब्बियों, जेसीबी मशीनों का खुल कर इस्तेमाल करके अवैध एवं अनियमित तरीके से रेत निकाला जा रहा है। डॉ दुबे ने मध्यप्रदेश सरकार से इस को रोकने की मांग की है उन्होनें कहा है कि पावर मेक कम्पनी के प्रबन्धको और रेत माफियाओ के ख़िलाफ आपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध करके उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए साथ ही जो भी मशीने खदानो पर रेत निकाल रही है उन्हें राजसात किया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here