भिण्ड, गणेश भारद्वाज। भिण्ड (Bhind) जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर की दूरी स्थित ईंगुरी-बगुलरी गांव के पास अचानक जमीन में दो सौ मीटर से अधिक लंबाई की दरार आ गई है। दरार एक फ़ीट से अधिक चौड़ी है और काफी गहराई तक जमीन फटी दिखाई दे रही है। जिस जगह पर जमीन फटी है वह ईंगूरी गांव का शासकीय स्कूल भवन से कुछ ही दूरी पर है। इस घटना के बाद ग्रामीणों में दहशत का माहौल है।

यह भी पढ़ें…शादी करने के बहाने पहले युवतियों को बुलाया, फिर की हत्या की कोशिश, 3 युवक गिरफ्तार

ग्रामीणों ने बताया कि यह कल जब खेतों में पशु चराने के लिए चरवाहे गए तब फटी हुई जमीन देखी गई। तब से लेकर आज तक जमीन फटने का आकार और भी बढ़ता जा रहा है। डेमेज जमीन में पशुओं के जाने से उनके घायल होने अथवा पशु हानि होने के काफी चांस बन गए है। साथ ही उस जमीन में किसी चरवाहे बच्चे के जाने से भी कोई बड़ी घटना सामने आ सकती है। फटी जमीन स्थानीय लोगों के लिए कौतूहल का विषय बन गई है। और आसपास के गांव के लोग जमीन को देखने के लिए आ रहे हैं। कुछ ग्रामीणों ने उस फटी जमीन का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर भी वायरल किया है। लेकिन दो दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक शासन प्रशासन का कोई भी नुमाइंदा मौके पर नहीं पहुंचा है।

ग्रामीणों का कहना है कि हर खेत जाने वाले सभी लोगों को खतरा बना हुआ है। क्योंकि कहीं-कहीं इसकी चौड़ाई और गहराई दोनों ही ज्यादा है। ऐसे में छोटे बच्चों का एवं पशुओं का फटी हुई जमीन में जाने का खतरा बना हुआ है। ग्रामीणों की मांग है कि शासन प्रशासन का अमला मौके पर पहुंचकर भूगर्भ वैज्ञानिकों द्वारा इसकी जांच कराये कि जमीन दरकने का क्या कारण है। आने वाले समय में क्या कोई बड़ी भूल भूगर्भीय हलचल होने की संभावना है या फिर कोई बड़ा खतरा तो सामने आने वाला नहीं है फिलहाल गांव वाले मौके पर मौजूद है, ताकि कोई भी अप्रिय घटना ना घटे।

यह भी पढ़ें…Rajgarh : होटल में जहर खाकर युवक ने किया सुसाइड, कर्ज से था परेशान