बड़ा फैसला: कमलनाथ सरकार में हुई यह नियुक्तियां शिव’राज’ में निरस्त

भोपाल| कोरोना संकट (Corona Crisis) के बीच मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में पूर्व की कमलनाथ सरकार (Kamalnath government) के फैसलों पर कैंची चलना शुरू हो गया है| सरकार ने शासकीय कॉलेजों में जनभागीदारी समितियों के अध्यक्षों की नियुक्तियों को निरस्त कर दिया है| कमलनाथ सरकार ने अपने अंतिम दिनों में जनभागीदारी समितियों के अध्यक्षों की सूची जारी की थी|

सरकारी कॉलेजों के जनभागीदारी अध्यक्षों को हटाते हुए जनभागीदारी समितियों को भंग कर दिया गया है। उच्च शिक्षा विभाग ने बुधवार को इस संबंध में आदेश जारी किया है| आदेश में कहा गया है प्रदेश के समस्त शासकीय/स्वशासी महाविद्यालयों में जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष पद पर किये गए मनोयन तत्काल प्रभाव से निरस्त किये जाते हैं|

बता दें कि कांग्रेस सरकार में अध्यक्षों की नियुक्ति पर बवाल भी हुआ था| कई विधायक और कांग्रेस नेताओं को जनभागीदारी समिति का अध्यक्ष बनाया गया था जिसको लेकर सवाल उठे थे| इन समितियों को भंग करने के बाद अब विभाग नये सिरे से प्रदेशभर के करीब 516 कालेजों में समितियों को स्थापित करेगा। इसमें कई भाजपा नेताओं को एडजस्ट करने की तैयारी है|

बड़ा फैसला: कमलनाथ सरकार में हुई यह नियुक्तियां शिव'राज' में निरस्त