अब कांग्रेस इन्दौर मे ‘राम’ भरोसे

actor-arun-govil-who-played-lord-rama-to-be-fielded-by-congress-from-indore-in-loksabha-election

भोपाल। लोकसभा चुनाव में  कांग्रेस 24 सीटों का टारगेट लेकर चल रही है। कांग्रेस ऐसे चेहरों की तलाश कर रही है जो बीजेपी के गढ़ को आसानी से भेद सके। इनमें सबसे ज्यादा चर्चा इंदौर लोकसभा सीट की है। खबर है कि कांग्रेस रामायण में राम का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल को ताई के सामने मैदान में उतार सकती है। गोविल लंबे समय से कांग्रेस के संपर्क में रहे है और उनकी पत्नी इंदौर की रहने वाली है। खुद अरुण ने इस बात की इच्छा जाहिर की है। हालांकि पार्टी की तरफ से अभी कोई जवाब नही दिया गया है। बताया जा रहा है कांग्रेस इस पर विचार कर रही है। इससे पहले कार्यकर्ताओं ने अभिनेता सलमान खान को इंदौर लोकसभा सीट से चुनाव लडाने की मांग की थी।

दरअसल, इंदौर लोकसभा सीट एक हाईप्रोफाइल सीटों में से एक मानी जाती है। जिसके चलते अभी से इस सीट के उम्मीदवार को लेकर तरह तरह के कयास लगना शुरु हो गए है। वैसे सालों से इस सीट पर भाजपा का कब्जा है और सुमित्रा महाजन यहां से सांसद है। इस सीट से महाजन 1989 से लगातार चुनाव जीत रही हैं। अगर ताई  को इस बार भी टिकट मिला और वो जीतीं तो वे देश की पहली महिला सांसद होंगी जो लगातार 9 बार संसद पहुंचेगीं। हालांकि कांग्रेस उनके रिकॉर्ड को ध्वस्त करने की तैयारी में है। जिस तरह विधानसभा चुनाव में उसे लोकसभा क्षेत्र की आठ में से 4 सीटें मिलीं है उससे वो मुकाबले को बराबर का मान रही है। खबर है कि कांग्रेस रामानंद सागर के धारावाहिक रामायण में राम की भूमिका निभाने वाले अरुण गोविल को इस सीट से मैदान में उतार सकती है। हैरानी की बात तो ये है कि खुद अरुण गोविल ने यह इच्छा जाहिर की है। हाालांकि इसको लेकर तरह तरह के सवाल भी खड़े हो रहे हैं, क्योंकि आमतौर पर टेलीविजन के धार्मिक कार्यक्रमों से जुड़े अभिनेताओं का बोलबाला बीजेपी में ज्यादा रहा है। अरुण गोविल की छवि एक अच्छे अभिनेता की रही है, लेकिन रामायण में राम का निभाने के बाद उनका चेहरा सभी को आकर्षित करता है और फिल्मी दुनिया से कई चेहरे राजनीति में भी सफल हुए हैं| 

अरुण गोविल का संदेश मुझे हमारे कार्यकर्ताओं ने दिया है। अरुण गोविल ने इंदौर से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है। उन्होंने कहा कि हमारी सीधी तौर पर अरुण गोविल से कोई बात नहीं हुई है और ना ही हमारी पार्टी को कोई आवेदन मिला है, लेकिन उनकी इच्छा किसी माध्यम से हमें जरूर मिली है कि वह इंदौर से चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं और कांग्रेस से टिकट चाहते हैं। निश्चित तौर पर अगर पुख्ता बातचीत होती है और सीधा संपर्क होता है और वह अगर आवेदन करते हैं तो उनके नाम पर जरूर विचार किया जाएगा।  हाल ही में अभिनेता सलमान खान के भी इस सीट से चुनाव लड़ाने की मांग उठी थी, जिसे कांग्रेस ने खारिज कर दिया है।  

नरेंद्र सलूजा, मीडिया समन्वयक ,प्रदेश कांग्रेस 


पचौरी के करीबी माने जाते है अरुण

अरुण गोविल को पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी का करीबी माना जाता है और उन्होंने भोपाल में 1999 के लोकसभा चुनावों में उनके लिए प्रचार किया था। उस साल, सुरेश पचौरी को केंद्रीय मंत्री उमा भारती के सामने मैदान में उतारा गया, जिन्होंने खजुराहो से अपनी सीट बदल ली थी। इसके अलावा उनकी पत्नी इंदौर से है इसलिए अटकले तेज हो चली है।

ऐसा रहा है इस सीट का इतिहास

मध्यप्रदेश की चर्चित लोकसभा सीटों में से एक इंदौर लोकसभा सीट है, जहां से लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन सांसद हैं, दूसरे शब्दों में कहा जाए तो इंदौर लोकसभा सीट सुमित्रा महाजन का गढ़ कहा जाता है। वो 1989 से लगातार यहां जीतती आ रही हैं। साल 1952 और 1957 के लोकसभा चुनाव में यहां कांग्रेस जीती थी लेकिन 1962 के चुनाव में यहां कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया ने जीत दर्ज की, इसके बाद साल 1971 के चुनाव में फिर से यहां कांग्रेस की वापसी हुई लेकिन 1977 का चुनाव भारतीय लोकदल ने जीता और इसके बाद 1980 और 1984 दोनों ही सालों में यहां कांग्रेस का बोल-बाला रहा। साल 1989 के चुनाव में यहां पहली बार भाजपा जीती और सुमित्रा महाजन यहां से सांसद चुनी गईं, उन्होंने इस चुनाव में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाशचंद्र सेठी को 1,11,614 मतों के भारी अंतर से हराया था, इसके बाद से वो अब तक लगातार इस सीट से सांसद हैं यानी की साल 1989 से लेकर अब तक यहां केवल भाजपा की ही राज है।