नरोत्तम मिश्रा की कमलनाथ को नसीहत, कहा आलोचना के बजाय समाज में सकारात्मकता भी फैलाएं

मिश्रा ने कहा कि क्या कभी भारतीय होने के नाते कमलनाथ को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित नहीं कर सकता, कमी बताना ठीक बात है जनता को वैक्सीन के लिए प्रेरित नहीं करना चाहिए।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के गृह एवं जेल मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने कमलनाथ (Kamal Nath) पर नसीहत देते हुए कहा कि मैं कई दिनों से कमलनाथ के ट्वीट और स्टेटमेंट देख रहा हूं जिस तरह से कमलनाथ इस वैश्विक आपदा में नेगेटिविटी फैलाने का काम कर रहे हैं यह उनके भारतीय होने पर शक पैदा करता है, यह सच है कि ये विपक्ष के नेता का काम हो सकता है लेकिन क्या कभी भारतीय होने के नाते कमलनाथ या उनका राष्ट्रीय नेतृत्व जनता को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित नहीं कर सकता, कमी बताना ठीक बात है पर क्या कभी जनता को वैक्सीन के लिए प्रेरित नहीं करना चाहिए, क्या कभी पीड़ित मानव सेवा के लिए हमें उनके बीच नहीं जाना चाहिए, मुझे लगता है कमलनाथ को इस पर एक बार पुनर्विचार करना चाहिए, लोगों को भी अच्छा लगता अगर विपक्ष वैक्सीन के लिए प्रेरित और लोगों की सेवा के लिए हमारे साथ खड़ा होता और रिकवरी के बारे में लोगों को बताकर सकारात्मकता फैलाते तो विपक्ष के प्रति जनता का नजरिया बदल जाता। जहां तक कमलनाथ के चार लाख रुपये सहायता देने की बात है तो वह अपने राष्ट्रीय नेतृत्व से कह कर कांग्रेसी राज्यों मे इस योजना को लागू करवाते तो आपकी बात दल गत राजनीति से ऊपर मानी जाती, विपक्ष के लिए हमेशा नेगेटिव बातें करना ठीक नहीं है।

यह भी पढ़ें…टीकमगढ़ जिला अस्पताल का उमा भारती ने किया निरीक्षण, बोली नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी

कोरोना पीड़ितों का प्राइवेट अस्पतालों मे होगा फ्री इलाज
मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया से चर्चा के दौरान बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) द्वारा गरीबों के लिए कोरोना मरीजों के लिए निशुल्क इलाज की सेवा चालू की गई है जो अपने आप में एक ऐतिहासिक और मील का पत्थर है, मप्र सरकार आयुष्मान भारत योजना के सहयोग से प्रदेश के गरीब और आम आदमी का इलाज मुफ्त निजी अस्पतालों मे कराएगी। प्रदेश के 579 निजी अस्पतालों मे अब गरीब निशुल्क इलाज करा सकेंगे, आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रदेश मे दो करोड़ 42 लाख काड हैं, 96 लाख परिवारों को इसका लाभ होगा, प्रदेश की 88 फीसदी जनता अब निशुल्क इलाज योजना का लाभ उठा सकेगी,आयुष्मान के पैकेज मे प्रदेश सरकार ने 40 फीसदी राशि अतिरिक्त रुप से दी है, इसके बाद अब कोई भी निजी अस्पताल गरीबो से इलाज का पैसा नहीं ले सकेगा। गरीबों को इलाज भोजन, ऑक्सीजन, रेमडेसिवीर इंजेक्शन, सिटी स्केन सहित अन्य सभी सुविधाएं भी इस योजना के तहत मुफ्त मिलेंगी।

यह भी पढ़ें…कोरोना कर्फ्यू : प्रदेश के इस जिले में 15 मई तक सड़कों पर नहीं दौड़ेंगे वाहन, कलेक्टर ने जारी किए आदेश

कोरोना की स्थिति में धीरे-धीरे आ रहा सुधार- नरोत्तम मिश्रा
एमपी मे कोरोना संक्रमण की स्थिति पर मिशन ने कहा कि संक्रमण की स्थिति में धीरे धीरे सुधार आता जा रहा है, पिछले 24 घंटे मे 12,421 नए केस आए है जबकि इसके विपरीत 12,965 लोग ठीक होकर घर गए, इसका मतलब है कि हमारा रिकवरी रेट बढ़ रहा है, ऑक्सीजन सपोर्ट वाले बेड मे भी दो फीसदी की कमी आई है, अब अस्पतालों मे भी बेड आसानी से उपलब्ध हो रहे हैं, प्रदेश मे वैक्सीनेशन का काम भी सफलता पूर्वक चल रहा है, अब तक 83 लाख 47 हजार डोज लग चुके हैं, 45 प्लस वालों का वैक्सीनेशन पहले की तरह ही जारी है, अभी हमारे पास 6 लाख 35 हजार डोज हैं और 8 लाख 15 मई तक आ जाएंगे जहां तक 18 प्लस वैक्सीन वालों का सवाल है तो 4 हजार 981 को डोज लग चुके हैं एक लाख 50 हजार वैक्सीन हमारे पास हैं और 10 लाख 67 हजार वैक्सीन 15 मई तक आ जाएंगी।