भोपाल।
राजगढ़ कलेक्टर निधि निवेदिता को लेकर दिए गए विवादित बयान पर मचे बवाल के बाद भाजपा नेता बद्रीलाल यादव ने माफी मांगी ली है। उन्होंने कहा कि मैंने पहले ही कहा था कि मेरे बात को अन्यथा न लें। फिर भी अगर किसी को ठेस पहुंची है तो मैं अपने बयान पर खेद व्यक्त करता हूं। मेरे कहने का आशय गलत नहीं था।

बद्रीलाल यादव ने कहा मैंने शुरू में बोला था कि मेरे इस भाषण का गलत अर्थ मत निकालना। कलेक्टर जिला का माई बाप होता है, उनको सभी के साथ एक समना व्यवहार करना चाहिए।भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की जाती है, कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सम्मान दिया जाता है।कांग्रेस ने मेरे बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया है।वहीं, बयान से नाराज राजगढ़ जिले के एक दर्जन से अधिक संगठनों से जुड़े कर्मचारी और अधिकारी गुरुवार को कलम बंद हड़ताल पर चले गए हैं।गुरुवार को सुबह से राजगढ़ जिले के पटवारी संघ, आरआई संघ, नगरपालिका कर्मचारी संघ, जिले के सीएमओ, डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार नायब, तहसीलदार जनपद सीईओ, पंचायत इंस्पेक्टर, रोजगार सहायक, पंचायत मंत्री आदि से जुड़े कर्मचारी संगठन हड़ताल पर चले गए। कर्मचारी संघ ने कलम बंद हड़ताल में काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। यहां की तहसीलों और कलेक्टरेट कार्यालय में कामकाज पूरी तरह से बंद है।

इतना ही नही उधर आईएएस एसोसिशन ने भी बद्रीलाल यादव की टिप्पणी को आपत्तिजनक बताते हुए उनकी आलोचना की है। आईएएस एसोसिएशन के अध्यक्ष आईसीपी केशरी ने मुख्य सचिव एसआर मोहंती को चिट्ठी लिख कलेक्टर पर की गई टिप्पणी पर विरोध दर्ज कराया।वही बुधवार को महिला कांग्रेस विरोध में यादव क पुतला फूंका था और महिलाओं के प्रति की गई टिप्पणी पर माफी मांगने की मांग की थी।