24 घंटे मिलेगी शराब, चुनिंदा होटलों को अनुमति देने की तैयारी

इंदौर। एक ओर जहां भाजपा प्रदेश में शराब बंदी और नई शराब दुकान खोलने की अनुमति देने पर रोक लगाने की मांग कर रही है। उससे उलट अब प्रदेश की कमलनाथ सरकार 24 घंटे शराब परोसने की तैयारी कर रही है। हालांकि यह सुविधा सभी होटलों को न देकर कुछ चुनिंदा होटलों को दी जाएगी। 

दरअसल सरकार ने यह निर्णय खाली खजाने को देखते हुए लिया है। आर्थिक तंगी से जूझ रही कमलनाथ सरकार को कार्य पूरा करने के लिए एक बार फिर एक हजार करोड़ रुपये का नया कर्ज लेने पर मजबूर होना पड़ रहा है। ऐसे में कर्ज लेने के झंझट से छुटकारा पाने और खजाना भरने के लिए सभी विभागों को राजस्व बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। आबकारी विभाग ने अपने राजस्व में इजाफा करने के लिए रास्ता खोजते हुए चुनिंदा होटलों में 24 ही घंटे शराब परोसने की अनुमति देने का निर्णय लिया है। इसी के चलते आबकारी विभाग ने एक प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा है कि चुनिंदा होटलों को जिनके पास एसएल-3 बार लाइसेंस हैं, उन्हें 24 ही घंटे शराब परोसने की अनुमति दी जाए। हालांकि, यह अनुमति आवश्यकत शर्तों के साथ ही रहेगी और सभी बारों या अहातों को इसकी अनुमति नहीं मिलेगी, सिर्फ चुनिंदा होटलों में ही इसकी अनुमति होगी। इससे पहले पिछले दिनों आबकारी विभाग ने सभी शराब दुकानों के साथ अहाते खोलने की अनुमति भी दे दी। पहले विदेशी शराब दुकानों के साथ ही अहाते चल रहे थे, अब सभी देशी दुकानों के साथ भी अहातों को खोलने की अनुमति दी गई है। वैसे भी कुछ समय पूर्व मध्यप्रदेश शॉप एंड स्टेबलिश्मेंट कानून की कुछ धाराओं में संशोधन कर सुबह 5 बजे से लेकर देर रात तक दुकानें और प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति दी गई है। उसको भी आबकारी विभाग ने आधार बनाया है।